जनपथ न्यूज़ पटना :- आगामी विधानसभा चुनाव में सीट बंटवारे को लेकर बयान देने वाले प्रशांत किशोर को नसीहत देना डिप्टी सीएम सुशील मोदी को भारी पड़ गया है। प्रशांत किशोर ने सुशील मोदी को उनकी औकात बताते हुए जवाबी हमला किया है। प्रशांत किशोर ने कहा है कि डिप्टी सीएम की कुर्सी पर परिस्थितिवश बैठने वाले सुशील मोदी से राजनीतिक मर्यादा और विचारधारा पर ज्ञान सुनना उनके लिए सुखद अनुभव है।

डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी पर पलटवार करते हुए जेडीयू नेता प्रशांत किशोर ने दो टूक शब्दों में यह बता दिया है कि बिहार में नीतीश कुमार को नेतृत्व और जेडीयू को सबसे बड़े दल की भूमिका जनता ने दी है ना की किसी और पार्टी के नेता या शीर्ष नेतृत्व ने। पीके ने सुशील मोदी को याद दिलाया है कि 2015 के विधानसभा चुनावों में हार के बावजूद वह परिस्थितिवश डिप्टी सीएम बन बैठे हैं।

आपको बता दें कि सीट बंटवारे पर प्रशांत किशोर का बयान आने के बाद सुशील मोदी ने कहा था कि चुनावी डाटा जुटाने और नारा गढ़ने वाली कंपनी चलाते हुए प्रशांत राजनीति में आ गए हैं. वह विरोधियों को फायदा पहुंचाने के लिए बयानबाजी कर रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.