जनपथ न्यूज़  बिहार के नियोजित शिक्षक पिछले 17 फरवरी से हड़ताल पर हैं. राज्य सरकार ने इस हड़ताल को अवैध करार दे दिया है. साथ हीं उन शिक्षकों पर कार्रवाई की प्रक्रिया शुरू कर दी है. लेकिन इस बीच जो बड़ी खबर सामने आई है, वो है चिराग पासवान द्वारा इन नियोजित शिक्षकों को समान काम के लिए समान वेतन दिलाने की मांग.
दरअसल, नियोजित शिक्षकों ने अपनी मांगों को चिराग के बिहार फर्स्ट, बिहारी फर्स्ट विजन डॉक्युमेंट में डलवाने का आवेदन दिया था. बिहार के नियोजित शिक्षकों के पक्ष में चिराग पासवान खुलकर उतर गए हैं. उन्होंने ऐलान कर दिया है कि वे नियोजित शिक्षकों की मांग को लागू करवा के रहेंगे.

इस आवेदन को चिराग ने स्वीकार कर लिया है. और नियोजित शिक्षकों कीे समस्या को पार्टी अपने मैनिफ़ेस्टो में शामिल करने का वादा भी कर दिया है. बता दें 17 फरवरी से वेतनमान को लेकर नियोजित शिक्षक हड़ताल पर हैं. लगातार उनका प्रदर्शन उग्र होता जा रहा है.
आज समान काम, समान वेतन समेत कई मांगों को लेकर बिहार के नियोजित शिक्षक पटना के डाक बंगला चौराहा स्थित जिला शिक्षा पदाधिकारी के कार्यालय पहुंच गये. इस दौरान सैकड़ो की संख्या में पहुंचे ये हड़ताली शिक्षकों ने जमकर बवाल काटा.
अपने विभिन्न मांगों को लेकर पूरे बिहार भर के नियोजित शिक्षकों का प्रदर्शन जोर-शोर से जारी है और आज इसी कड़ी में राजधानी पटना के कदमकुआं थाना क्षेत्र के जिला शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय के समीप नियोजित शिक्षकों कार्यालय का घेराव कर और तालाबंदी कर धरने पर बैठे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.