न्युज डेस्क, पटना
Edited by: राकेश कुमार/जनपथ न्यूज
मई 4, 2022
पटना: बिहार में शराबबंदी कानून लागू है। पूरे प्रदेश में शराबबंदी कानून लागू होने के बाद भी शराब माफिया सक्रिय हैं। शराब माफिया की सक्रियता का अंदाज इस बात से लगाया जा सकता है कि इतने सख्त कानून के बाद भी पूर प्रदेश के शराब तस्करी की खबरें आती रहती है और प्रशासन की तरफ से इन शराब माफियाओं पर लगाम लगाने के लिए भी लगातार प्रयास किया जाता रहा है लेकिन हालात तो यह है कि सीएम नीतीश कुमार के सुरक्षा घेरे तक भी यह शराब माफिया पहुंच गए थे।
बता दें कि आज जब पूरा प्रदेश ईद की उमंग में डूबा है ये शराब माफिया तब भी सक्रिय हैं और अपने कारोबार को जारी रखे हुए हैं। उत्पाद विभाग की टीम ने आज इसी क्रम में पटना में 40 से 50 लाख रुपए की शराब जब्त कर ली है। उत्पाद विभाग की टीम को गुप्त सूचना मिली कि यूपी से शराब की बड़ी खेप प्रदेश के अंदर पहुंच रही है. यह खेप प्रदेश की राजधानी पटना पहुंचाई जा रही है. इसके बाद विभाग सक्रिय हो गया और मद्य निषेध विभाग की तरफ से पटना और आसपास के इलाकों में खड़ी सभी ट्रकों पक दबिश डाली गई। इसके बाद नौबतपुर इलाके लगे एक ट्रक पर टीम ने दबिश दी जिसपर यूपी का नंबर लगा था जिस सर्च किया गया।
मद्य निषेध विभाग की टीम ने जब ट्रक के पास पहुंचकर इसकी जांच की तो वहां से शराब की बू आ रही थी लेकिन ट्रक के अंदर कोई स्टाफ नहीं था. फिर टीम ने ट्रक को सर्च करना शुरू किया तो उस ट्रक में कपड़े से भरी बोरियां थी और उसके नीच जब टीम ने देखा तो सभी दंग रह गए. वहां बोरियों के नीचे कार्टून में शराब की बोतलें भरी पड़ी थी. इन कार्टूनों में भारी मात्रा में ब्रांडेड शराब की बोतलें थी. टीम ने सभी शराब की बोतलों को जबित कर लिया. टीम अब इस शराब माफिया के सिंडिकेट को खंगालने में लग गई है.
इसको लेकर बताया जा रहा है कि शराब की यह बड़ी खेप पंजाब से चलकर पहले यूपी पहुंची और फिर यूपी से इसे बिहार लाया गया. यहां इसकी सप्लाई करनी थी लेकिन इससे पहले ही मद्य निषेध विभाग की टीम ने तस्करों के मंसूबे पर पानी फेर दिया।

2 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published.