न्यूज डेस्क, पटना
Edited by: राकेश कुमार
मई 3, 2022
पटना: बिहार की राजधानी पटना में इस्कॉन का भारत का चौथा सबसे बड़ा मंदिर बन कर तैयार हुआ है जिसे आज श्रद्धालुओं के दर्शन के लिए खोल दिया गया है। अक्षय तृतीया के मौके पर श्रीराधा बांके बिहारी मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के बाद मूर्तियां स्थापित की गईं। इस मौके पर भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया। मंदिर के गर्भ गृह में प्राण-प्रतिष्ठा कार्यक्रम संपन्न हुआ।
इसके पहले गर्भ गृह में सुबह आठ बजे से कीर्तन शुरू हुई। सुबह 9 बजे से 11 बजे के बीच यज्ञ का आयोजन किया गया। दोपहर 12 बजे से दो बजे के बीच प्राण प्रतिष्ठा समारोह हुआ। मंदिर में राधे-बांके बिहारी, ललिता व विशाखा के साथ, राम दरबार में राम, लक्ष्मण, सीता और हनुमान के मूर्ति स्थापित किए गए और गौड़नीता दरबार में चैतन्य महाप्रभु और नित्यानंद महाप्रभु के मूर्ति स्थापित किये गए हैं।
बता दे कि इस मंदिर को बनाने में 11 वर्षों कासमय और तकरीबन 100 करोड़ रुपये लगे हैं। इस मंदिर को नगर शैली में बनाया गया है और इसमें मकराना के संगमरमर का प्रयोग किया गया है। इस मंदिर को बनाने के लिए 84 खंभों का इस्तेमाल किया गया है। इस मंदिर को चार मंज़िला राधा रानी – बाँके बिहारी मंदिर बनाया गया है जो सेमी अंडरग्राउंड है।
मंदिर का निर्माण 2.5 एकड़ के क्षेत्र में किया गया है। मंदिर परिसर में एक गौशाला का भी निर्माण किया गया है जिसमें 500 गायों के रखने का प्रबंध किया जाएगा। मंदिर प्रबंधन का कहना है कि इन्हीं गायों के दूध से भगवान का प्रसाद तैयार किया जाएगा और भक्तों में वितरण किया जाएगा।

2 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published.