रिमांड होम सुपरिटेंडेंट वंदना गुप्ता के खिलाफ एक और पीड़िता आई सामने, महिला थाने में की शिकयत, कहा- बाहर के लड़कों को अंदर बुलाया जाता था………..

न्यूज डेस्क, पटना
जनपथ न्यूज
राकेश कुमार
फरवरी 9, 2022

पटना: पटना गाय घाट स्थित महिला रिमांड होम की सुपरिटेंडेंट वंदना गुप्ता के खिलाफ एक और पीड़िता सामने आई है। मंगलवार की शाम एक पीड़िता महिला विकास मंच की टीम के साथ थाने पहुंची और सुपरिटेंडेंट के खिलाफ लिखित शिकायत दी है। रिमांड होम की सुपरिटेंडेंट वंदना गुप्ता पर दूसरी पीड़िता नें भी संगीन आरोप लगाए हैं। पीड़िता ने बताया कि 2018 में वंदना गुप्ता के वहां आने के बाद बाहर के लड़कों को रिमांड होम के अंदर भेजा जाता था। मानसिक तौर पर कमजोर लड़िकयों को कैसे नशे का इंजेक्शन और दवाएं दी जाती थी। अधीक्षक पर पहले सामने आई पीड़िता ने जिस तरह के आरोप लगाए थे उस तरह के आरोप अब दूसरी पीड़िता ने भी लगाए हैं।

रिमांड होम की सुपरिटेंडेंट वंदना गुप्ता के खिलाफ शिकायत को महिला थाने ने लिया है, लेकिन इसपर FIR दर्ज नहीं हुआ है। इससे पहले सामने आई पीड़िता की शिकायत पर भी एफआईआर दर्ज नहीं हुआ था। जिसके बाद पटना हाईकोर्ट ने सरकार को पटकार लगाई थी।

दूसरी पीड़िता को थाने लेकर पहुंची महिला विकास मंच की संरक्षक वीणा मानवी और राष्ट्रीय अध्यक्ष अरूनिमा ने बताया कि गाय घाट रिमांड होम में रह चुकी कई लड़कियां वंदना गुप्ता के खिलाफ सामने आ रही है। ये पीड़िताए मीडिया के सामने नहीं आना चाह रही हैं लेकिन ये कोर्ट में जाकर सबकुछ बताने के लिए तैयार है। ये पीड़िताएं कोट में अपना बयान देकर सब राज खोल देंगी।

दरअसल रिमांड होम से फरार हुई एक पीड़िता ने सुपरिटेंडेंट वंदना गुप्ता पर गंभीर आरोप लगाए हैं। जिसके बाद रिमांड होम की व्यवस्था पर सवाल खड़ा हो गया है। पीड़िता ने आरोप लगाए हैं कि अधीक्षक वंदना गुप्ता नशे का इंजेक्शन देकर यहां रहने वाली पीडिताओं को अनैतिक कार्य करने के लिए मजबूर करती हैं। केअर होम में रहने वाली पीड़िताओं को भोजन और बिस्तर की सुविधाएं भी नहीं मुहैया कराई जाती है। इसके साथ ही पीड़िता ने आरोप लगाया कि अजनबियों को रिश्तेदार बनाकर एंट्री दी जाती थी। जो आकर बेसहारा महिला को उठा कर ले जाते थे। पीड़िता के गंभीर आरोप के बाद भी पुलिस ने FIR दर्ज नहीं की है।

2 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published.