जनपथ न्यूज़ नई दिल्ली :- आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने शाहीन बाग के मुद्दे पर कहा कि काफी प्रदर्शनकारी मुबंई में प्रदर्शन वापस ले चुके हैं। उन्होंने कहा कि मेरा मानना ​​है कि अभी विरोध प्रदर्शन के आयोजकों को अपनी शांत और बुद्धिमत्ता का इस्तेमाल करना चाहिए, ताकि भाजपा जो हिंसा को एजेंडा बना कर बढ़त हासिल करना चाहती है वह नहीं हो। उन्होंने आयोजकों से कहा कि दुबारा सोचिए।
आम आदमी पार्टी (आप) ने भाजपा पर दिल्ली में कानून व्यवस्था बिगाड़ने का आरोप लगाया है। आप से राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने आरोप लगाया कि भाजपा नेताओं द्वारा दिए जा रहे भड़काऊ और आपत्तिजनक बयान दिल्ली का माहौल खराब करने के उद्देश्य से दिए जा रहे हैं। पार्टी मुख्यालय में प्रेसवार्ता कर सिंह ने कहा, मैंने शुक्रवार को ही चुनाव आयोग और दिल्ली पुलिस को आगाह किया था कि भाजपा और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह दिल्ली चुनाव को टालने के लिए बवाल कराने की साजिश रच रहे हैं। आम आदमी पार्टी ने दावा किया कि शाहीन बाग एवं जामिया मिल्लिया इस्लामिया में 2 फरवरी को बड़े पैमाने पर अशांति की साजिश रची जा रही है। खास कर वहां जहां सीएए के खिलाफ प्रदर्शन चल रहा है।
उन्होंने कहा कि कल जामिया नगर में एक शख्स ने खुलेआम पुलिस की मौजूदगी में गोली चलाई। आज फिर से खुलेआम शाहीन बाग में गोलियां चलाई गई। लगता है जैसे दिल्ली में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज ही नहीं है। उन्होंने कहा, हम कल से चुनाव आयोग से मिलने का समय मांग रहे हैं, हम उन्हें तमाम वीडियो और सबूत दिखाना चाहते हैं, जो यह साबित करते हैं कि भाजपा हार के डर से दिल्ली में बड़ा बवाल कराने की साजिश रच रही है। चुनाव आयोग अब तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।
सिंह ने कहा कि रविशंकर प्रसाद कहते हैं, हम शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों से बातचीत कर मसले का हल निकालना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि हमने भी केंद्र सरकार की इस पहल का स्वागत किया। परंतु सुबह से शाम हो गई है, भाजपा की ओर से कोई पहल नजर नहीं आई। किसने आपको बातचीत करने से रोका है उसका नाम बताया जाए।
बता दें कि शनिवार को शाहीन बाग में एक शख्स ने गोली चला कर वहां सनसनी मचा दी थी। हालांकि ने उसे समय रहते गिरफ्तार कर लिया और पुलिस ने हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी। इसके बाद वहा धरने पर बैठे लोगों की संख्या बढ़ने लगी। शाहीन बाग धरना स्थल के पास गोली चलने के बाद मौके पर भारी संख्या में पुलिस व सुरक्षाबलों के जवान पहुंच गए। इस पर धरने पर बैठे लोगों को लगा कि पुलिस धरना स्थल पर किसी कार्रवाई के लिए आ रही है। ऐसे में कई महिलाएं बैरिकेड के पास आ गईं और जमीन पर बैठ गईं। कुछ महिलाएं मानव श्रृंखला बनाकर भी खड़ी हो गईं। हालांकि पुलिस व सुरक्षा बल के जवान धरना स्थल के करीब एक सीमा तक ही गए और फिर वहीं खड़े हो गए।
कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों  से कहा सरकार बातचीत को तैयार है। लेकिन, यह नियमों के दायरे में होना चाहिए। यह संभवत: पहली बार है, जब किसी केंद्रीय मंत्री ने शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों से बातचीत करने की इच्छा जताई है। बता दें कि शाहीन बाग में प्रदर्शनकारी सीएए के खिलाफ पिछले 40 दिनों से धरने पर हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.