जनपथ न्यूज़ रांची: झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (CM Hemant Soren) ने शनिवार को दावा किया कि केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) द्वारा संसद में पेश किया गया केंद्रीय बजट (Union Budget 2020) पूंजीपतियों और बड़े उद्योगपतियों के लिए तैयार किया गया है. मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) से झारखंड में एक जनजातीय विश्वविद्यालय खोलने का आग्रह किया था, लेकिन बजट में केवल एक जनजातीय संग्रहालय का उल्लेख है.
उन्होंने कहा, ‘मैंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भेंट कर झारखंड के लिए एक जनजातीय विश्वविद्यालय खोलने का अनुरोध किया था, लेकिन बजट में एक जनजातीय संग्रहालय खोलने का उल्लेख है. एक बार फिर जनजातीय लोगों को छला गया है.’ सोरेन ने आरोप लगाया कि बजट गरीबों, किसानों, मजदूरों और बेरोजगारों को परेशान करने वाला है.
सीएम ने कहा, ‘अर्थशास्त्री बजट का विश्लेषण कर रहे हैं और उनके विश्लेषण के बाद ही यह पता लग पाएगा कि इस बजट से देश की प्रगति में कितनी मदद मिलेगी. यह किस प्रकार हमारी वित्तीय व्यवस्था में मदद करेगा और किस हद तक लोगों की अपेक्षाओं पर खरा उतरेगा, लेकिन प्रथम दृष्टया केंद्रीय बजट दूरदृष्टि वाला नहीं है.’ हेमंत सोरेन ने संवाददाताओं से कहा, ‘केंद्रीय बजट पूंजीपतियों और बड़े उद्योगपतियों को ध्यान में रखकर बनाया गया है. बजट के द्वारा कर चोरी करने वाले बड़े उद्योगपतियों को राहत देने का प्रयास किया गया है. अब उन्हें कर चोरी करने पर कोई जुर्माना नहीं भरना होगा.’

Leave a Reply

Your email address will not be published.