साइकिल पर फेरी लगाकर कपड़े बेचने वाले का बेटा बना आईएएस, लाया सिविल सर्विसेज में 45वीं रैंक

न्यूज डेस्क/जनपथ न्यूज
Edited By: राकेश कुमार
सितंबर 25, 2021

मेहनत सफलता की पहली सीढ़ी है” इसी मेहनत के बल पर आज किशनगंज के अनिल बोसाक ने सिविल सर्विसेज – 2020 में 45वीं रैंक हासिल की। शुक्रवार शाम संघ लोक सेवा आयोग द्वारा सिविल सेवा परीक्षा यूपीएससी 2020 का फाइनल रिजल्ट घोषित किया गया। जिसमे बिहार के किशनगंज के अनिल बोसाक ने 45वीं रैंक लेकर परिवार का नाम रोशन करने के साथ देश के अनेको लोगो के लिए प्रेरणास्त्रोत बन गए।

अनिल के पिता फेरी लगाकर कपड़े बेचने का काम करते थे। ऐसी विपरीत परिस्थितियों में भी अनिल की पढ़ाई और मेहनत डगमगाई नहीं। आंखों में कुछ कर गुजरने का जुनून, मील का पत्थर यूपीएससी की परीक्षा और दिन रात पढ़ाई। अब जब रिजल्ट आया तो आज सभी की निगाहें किशनगंज की ओर दौड़ पड़ीं। अनिल ने यूपीएससी 2020 के रिजल्ट में 45वीं रैंक हासिल कर अपने पिता का सीना गर्व से चौड़ा कर दिया।

इससे पहले अनिल ने 2019 के यूपीएससी परीक्षा में भी सफलता हासिल करते हुए 616वां रैंक हासिल किया था और उनका चयन राजस्व विभाग में हुआ था। लेकिन उस सफलता से उनको संतुष्टि नहीं मिली। जिसके बाद अनिल लगातार प्रयास में लगे रहे और अनिल ने 2020 में फिर परीक्षा दी और इस बार उन्होंने 45वां रैंक हासिल किया है। किशनगंज शहर के नेपालगढ़ कॉलोनी के रहने वाले अनिल बोसाक ने जब यूपीएससी में अपनी ऑल इंडिया रैंक में 45वीं रैंक की खबर सुनी इसके बाद उनके परिवार समेत गांव के लोगो में खुशी का ठिकाना नहीं रहा। हर कोई अनिल के घर उनको बधाई देने के लिए आने लगा।

अनिल के पिता संजय बोसाक कपड़े की फेरी लगाकर गांव-गांव जीविका के लिए जाते थे। आईएएस बनने का ख्वाब देखने वाले अनिल चार भाइयों में दूसरे नंबर के बेटे हैं।

अनिल का चयन वर्ष 2014 में आईआईटी दिल्ली में सिविल इंजीनियरिंग के लिए हुआ था। अनिल ने 8वीं तक की पढ़ाई किशनगंज शहर के ओरियेंटल पब्लिक स्कूल से की, तो वर्ष 2011 में अररिया पब्लिक स्कूल से मैट्रिक पास किया। इसके बाद बाल मंदिर सीनियर सेकेंड्री स्कूल किशनगंज से 12वीं पास किया।

अनिल का पूरा परिवार किशनगंज के नेपालगढ़ कॉलोनी में रहता है। अनिल बोसाक के पिता संजय बोसाक फेरी का काम करते थे। माली हालत खराब रहने के बावजूद उन्होंने बेटे को पढ़ाया। अनिल की सफलता के बाद उनके परिवार और शहर में खुशी का माहौल है।

बता दें सिविल सेवा परीक्षा 2020 में बिहार के ही शुभम कुमार ने टॉप किया है जबकि जागृति अवस्थी और अंकिता जैन ने क्रमश: दूसरा और तीसरा स्थान हासिल किया है। परीक्षा में कुल 761 उम्मीदवार उत्तीर्ण हुए हैं जिनमें 545 पुरुष और 216 महिलाएं हैं।

4 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published.