जनपथ न्यूज़ रांची. मुख्यमंत्री हेमंत साेरेन ने कहा कि झारखंड में गरीबाें की जमीन नहीं जाने दी जाएगी। सरकार अाैद्याेगिक घरानाें का भी पूरा ख्याल रखेगी। मुख्यमंत्री शुक्रवार काे दिल्ली में मीडिया से बात कर रहे थे। उन्हाेंने कहा कि एनअारसी अाैर सीएए काे गंभीरता से देखने की जरूरत है। यह देश के लिए चुनाैती है। पहले जिस तरह से इस विषय काे लिया गया, उसमें झांकने की जरूरत है। झारखंड में एनअारसी लागू करने के सवाल पर उन्हाेंने कहा कि राज्य सरकार ने अपने स्तर पर अभी इस पर काेई चर्चा नहीं की है। लेकिन जिन नीतियाें से लाेग सड़क पर अा जाएं, लाेगाें की जान जाए, ताे यह गंभीर बात है। उन्हाेंने कहा कि झारखंड में सरकारी खजाना खाली है। सरकार जल्दी ही राज्य की अार्थिक बदहाली पर श्वेत पत्र जारी करेगी। हेमंत साेरेन ने कहा कि उन्हाेंने प्रधानमंत्री से मिलने का समय मांगा है। प्रधानमंत्री अभी व्यस्त हैं। समय मिलते ही वह उनसे मिलेंगे। उन्हाेंने भराेसा जताया कि केंद्र से झारखंड सरकार काे समय पर फंड मिलता रहेगा। झारखंड सरकार भी केंद्र के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलेगी।
हेमंत साेरेन ने शुक्रवार काे राष्ट्रपति रामनाथ काेविंद, पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी अाैर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से भेंट की। उन्हें नववर्ष की शुभकामनाएं दीं। उनके साथ पत्नी कल्पना मुर्मू भी थीं। हेमंत ने प्रणब मुखर्जी के साथ नई सरकार अाैर झारखंड की स्थिति पर भी चर्चा की। वहीं अरविंद केजरीवाल काे शाॅल भेंट किया। मुख्यमंत्री शनिवार काे रांची लाैटेंगे। इससे पहले वह राज्य में मंत्री पद अाैर विभागाें के बंटवारे पर सहमति बनाने के लिए कांग्रेस नेता राहुल गांधी से भी मिल सकते हैं।
अालमगीर अालम बने संसदीय कार्यमंत्री शेष विभाग मुख्यमंत्री के पास ही रहेंगे
मुख्यमंत्री ने शुक्रवार काे संसदीय कार्य का प्रभार मंत्री अालमगीर अालम काे साैंप दिया। शेष विभाग अभी मुख्यमंत्री के पास ही रहेंगे। छह जनवरी से बुलाए गए विधानसभा सत्र में अब मुख्यमंत्री ही वित्तमंत्री की हैसियत से द्वितीय अनुपूरक बजट पेश करेंगे। अाठ जनवरी तक चलने वाले सत्र में विधायकाें के शपथ ग्रहण, स्पीकर का चुनाव अाैर द्वितीय अनुपूरक बजट पास हाेना है।
छह जनवरी काे एक सीट छाेड़ेंगे हेमंत
हेमंत साेरेन दुमका अाैर बरहेट, दाेनाें सीटाें से चुनाव लड़े अाैर जीते। अब छह जनवरी काे शुरू हाे रहे विधानसभा सत्र में विधायकाें काे शपथ दिलाई जाएगी। इससे पहले चार जनवरी काे दिल्ली से लाैटते ही वह दुमका जाएंगे अाैर अगले दिन बरहेट। पार्टी कार्यकर्ताअाें के साथ बैठक में राय-मशविरा करेंगे कि काैन सी सीट छाेड़ी जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.