भागलपुर. डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय सोमवार सुबह मॉर्निग वाॅक का ड्रेस पहन कर अकेले पुलिस लाइन जांच में पहुंच गए। इस दौरान डीजीपी ने बिना अपना परिचय दिए हथियार लिए दो महिला सिपाहियों से पूछा कि आपलोग इसे चला सकते हैं या नहीं। सिर्फ दिखाने के लिए हथियार तो नहीं हैं?
दोनों महिला सिपाहियों में एक अनुराधा ने कहा कि अभी तो हमलोग 45 राउंड गोली चला कर बांका से लौटे हैं। अभी गणतंत्र दिवस परेड के अभ्यास में जा रही हूं। इस पर डीजीपी ने कहा कि अगर दोनों का हथियार लेकर भाग जाएंगे तो आप लोग क्या कीजिएगा। यह सुन दोनों महिला सिपाही आक्रोशित हो गईं और कहने लगीं कि हथियार लेकर भागिए तो दिखा देंगे…टन्न से इंसास से ठोक दूंगी। हथियार लेकर भागने की बात सुनकर महिला सिपाहियों को भय हो गया और तुरंत कंधे से इंसास निकाल कर डीजीपी पर तान भी दी।
इसके बाद डीजीपी ने दोनों महिला सिपाहियों को अपना परिचय दिया। इसके बाद दोनों महिला सिपाहियों ने जय हिंद बोल कर डीजीपी को सलाम किया। दोनों महिला सिपाहियों का हौसला देख डीजीपी गदगद हो गए और उन्हें शाबाशी देकर पैदल सार्किट हाउस चले। डीजीपी ने बताया कि वे अकेले पूरे पुलिस लाइन का घूम-घूम कर निरीक्षण कर चुके हैं। जहां भी समस्या है, उनके संज्ञान में है। जल्द ही ट्रैफिक के संसाधन और बल उपलब्ध करा दिये जाएंगे। जाम की समस्या पर एसएसपी ने कई काम किये हैं। लेकिन कुछ काम अन्य विभागों का भी है, जो अभी तक पूरा नहीं हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.