बिहार में शराबबंदी पर समीक्षा बैठक से पहले तेजस्वी यादव ने सीएम नीतीश कुमार से पूछे कई सवाल……..

राकेश कुमार/जनपथ न्यूज
नवम्बर 16, 2021

पटना: बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने एक बार फिर शराबबंदी के मामले को लेकर सीएम नीतीश कुमार पर निशाना साधा है। उन्होंने शराबबंदी पर समीक्षा बैठक से पहले सीएम नीतीश कुमार से 15 सवाल पूछे हैं। उन्होंने कहा, “शराबबंदी पर मुख्यमंत्री जी से मेरे कुछ ज्वलंत सवाल है। उम्मीद है कि आज की समीक्षा बैठक से पूर्व वो इनका उत्तर देंगे अन्यथा बैठक में इन पर विमर्श करेंगे। अगर ऐसा नहीं होगा तो फिर यह विशुद्ध नौटंकी होगी।’ साथ ही उन्होंने कहा, ‘मुख्यमंत्री जी, दिखावटी समीक्षा बैठक से पूर्व आपको गहन आत्म चिंतन, मनन और मंथन की ज़रूरत है। तब तक आप खुद की तथा खुलेमन से शासन- प्रशासन की गलतियां कबूल नहीं करेंगे तब तक ये बैठकें एवं शराबबंदी हर दिन की तरह सामान्य रूप से चलती रहेगी और इनका कोई अपेक्षित परिणाम सामने नहीं आएगा।’

तेजस्वी यादव द्वारा सीएम नीतीश कुमार से पूछे गए सवाल:…

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी बताए कि वो शराबबंदी पर आज कौन से नंबर की समीक्षा बैठक कर रहे है? क्या यह 1100वीं समीक्षा बैठक है?
विगत 6 वर्ष में शराबबंदी पर की गई पहले की हज़ारों समीक्षा बैठकों का क्या परिणाम निकला? अगर प्रदेश के मुख्यमंत्री की समीक्षा बैठक के बाद भी वांछित परिणाम नहीं मिले तो यह प्रशासन की नहीं, सरासर मुख्यमंत्री की घोर विफलता है?
मुख्यमंत्री शराबबंदी के नाम पर लाखों ग़रीबों-दलितों को जेल में डाल चुके है लेकिन वो बताएं कि अब तक उन्होंने शराब की पूर्ति करने वाले कितने माफिया, कारोबारी, तस्करों और अधिकारियों को जेल भिजवाया है?
नीतीश सरकार शराब माफिया के साथ मिलीभगत के चलते कोर्ट में सबूत पेश नहीं करती जिससे एक-आध माफिया जो पकड़ाया जाता है उसे बरी होने में आसानी होती है।
मुख्यमंत्री जी, बताएं शराबबंदी के नाम पर आज तक कितने डीएसपी और एसपी स्तर के अधिकारी बर्खास्त हुए है? क्या शीर्ष पुलिस अधिकारी शराबबंदी के प्रति जवाबदेह नहीं है?
मुख्यमंत्री जी, बताएं शराबबंदी के नाम पर वो सिर्फ़ सिपाहियों को ही क्यों निलंबित करते है? निलंबित करने बाद उन्हीं 80% सिपाहियों को दोबारा बहाल क्यों करते है?
मुख्यमंत्री जी अगर शराबबंदी की लेकर गंभीर है तो हमारे द्वारा सदन में सबूत पेश करने के बाद मंत्री रामसूरत राय और उनके भाई के ख़िलाफ कारवाई करने में आपके हाथ क्यों काँप गए?
हम शराबबंदी में सहयोग करते है, सबूत पेश करते है तो आप कारवाई करने की बजाय सदन में बैठे-बैठे मास्क के अंदर मुस्कुराते है। आपके लिए शराबबंदी नहीं कुर्सी महत्वपूर्ण है। है कि नहीं??

1 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published.