जातिगत जनगणना के मुद्दे पर प्रधानमंत्री मोदी से मिले बिहार के सतापक्ष के घटक दल और विपक्ष के नेता और नीतीश कुमार बोले- ‘प्रधानमंत्री ने हमारी बात को नकारा नहीं

राकेश कुमार, जनपथ न्यूज
अगस्त 23, 2021

बिहार में जातिगत जनगणना की मांग ने एक सुर में जोर पकड़ा है। सत्तापक्ष के घटक दल और विपक्षी पार्टियां एक साथ मिलकर जातिगत जनगणना मांग कर रहे हैं। को इसी मुद्दे को लेकर बिहार के 11 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। इस प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने किया, जबकि इसमें राजद नेता तेजस्वी यादव और हम पार्टी के मुखिया जीतन राम मांझी समेत अन्य पार्टियों के नेता भी शामिल थे।

जातिगत जनगणना को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बताया कि प्रधानमंत्री ने हमारी पूरी बात सुनी। सबने जातिगत जनगणना के पक्ष में एक-एक बात कही है। प्रधानमंत्री ने हमारी बात को नकारा नहीं है और हमने कहा है कि इस पर विचार करके आप निर्णय लें। साथ ही नीतीश कुमार ने कहा कि इस मुद्दे पर बिहार और पूरे देश के लोगों की राय एक जैसी है। हमारी बात सुनने के लिए हम पीएम के शुक्रगुजार हैं। अब, उन्हें इस पर निर्णय लेना है।

वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने के बाद राजद नेता तेजस्वी यादव ने भी कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हमारी बात गंभीरता से सुनी है, अब हम लोगों को उनके निर्णय का इंतजार है। इसके साथ ही तेजस्वी ने बताया कि, ‘प्रतिनिधिमंडल ने आज न केवल राज्य (बिहार) में, बल्कि पूरे देश में जाति जनगणना के लिए पीएम से मुलाकात की।’

आपको बता दें कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस मुद्दे पर बैठक के लिए 4 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा था। नीतीश कुमार पिछले कुछ दिनों से जाति आधारित जनगणना पर जोर दे रहे हैं। हालांकि नीतीश कुमार पहले ही कह चुके हैं कि वह बिहार में होने वाली जाति आधारित जनगणना पर फैसला लेंगे, लेकिन पहले वह पीएम नरेंद्र मोदी के फैसले का इंतजार करेंगे। गौरतलब है कि तेजस्वी यादव और लालू प्रसाद देश में जाति आधारित जनगणना की मांग करते रहे हैं।

3 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published.