जनपथ न्यूज़ पटना:-.बजट सत्र के तीसरे दिन बुधवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने विधानसभा में राज्यपाल के अभिभाषण का जवाब दिया। उन्होंने सरकार द्वारा किए जा रहे काम को गिनाया। इस दौरान मुफ्त जमीन की मांग सुन नीतीश भाकपा माले के विधायक सत्यदेव राम पर भड़क गए। उन्होंने कहा कि मुफ्त जमीन की मांग बकवास है।
मुख्यमंत्री भूमिहीनों को जमीन खरीदने के लिए राज्य सरकार की ओर से 60 हजार रुपए देने का जिक्र कर रहे थे। इसी दौरान सत्यदेव खड़े होकर बोलने लगे। उन्होंने गरीबों को मुफ्त जमीन देने की मांग की। इसपर नीतीश ने कहा कि सबको जमीन कहां से मिलेगा। बैठिया ना। आप माले के हैं, आपका तो काम ही है ऐसे ही बोलते रहने का। माले को कुछ पता है? अध्यक्ष से कहा इनको बैठाइए जरा…अभी हम बताते हैं। अब सुनिए।
जरूरत पड़ी तो जमीन खरीदने के लिए देंगे 1 लाख
पहले बिहार की स्थिति को सबको समझना चाहिए। बिहार का क्षेत्रफल तो नहीं बदल सकता। बिहार का क्षेत्रफल 94000 वर्ग किलोमीटर है और आबादी करीब 12 करोड़ है। आप जरा कल्पना कर लीजिए। आबादी बढ़ती जा रही है, जमीन तो सीमित है। आप लोग सिर्फ कहिएगा कि इतना जमीन दो। जमीन क्या आसमान से आएगा। यह सिवाए बकवास के कुछ नहीं है। जमीन रहेगा तभी न कोई देगा। बिहार में जमीन नहीं है। सरकार पैसा देगी लोग जमीन खरीद लें। जमीन के अधिग्रहण का रेट बढ़ता जा रहा है। भूमिहीनों को घर बनाने की जमीन खरीदने के लिए अभी 60 हजार दे रहे हैं और जरूरत पड़ेगा तो एक लाख भी दे देंगे। आप जाकर लोगों को कहिए, लेकिन आप तो लोगों को कहिएगा नहीं। आपको तो जुलूस निकालना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.