जनपथ न्यूज़  15 वें वित्त आयोग की टीम इन दिनों बिहार की यात्रा पर है। बिहार की राजधानी पटना में होने वाले वित्त आयोग की बैठक से पहले ही बिहार में सत्तारूढ़ एनडीए में मतभेद सामने आने लगी है। वित्त आयोग की बैठक के पूर्व ही जदयू ने एक बार फिर अपना पुराना राग अलाप दिया है जिसको लेकर भाजपा ने कह दिया कि ऐसी कोई बात बैठक में नहीं होने वाली है।
दरअसल जदयू ने 15  वें वित्त आयोग की बैठक के दौरान बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देने की बात को लेकर कहा कि बैठक के दौरान बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देने को लेकर चर्चा की जायेगी। बिहार सरकार में शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि 15 वें वित्त आयोग की बैठक में निश्चित तौर पर विशेष राज्य का दर्जा देने पर बात होगी। शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा ने आगे कहा कि बिहार को उम्मीद है कि विशेष दर्जा का दर्जा मिलेगा.
शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा के इस बयान को लेकर भाजपा नेता व बिहार सरकार में कृषि मंत्री प्रेम कुमार ने कहा है कि इस बैठक में विशेष राज्य पर चर्चा नहीं होगी. इसके अलावा उन्होंने ये भी कहा कि बिहार को केंद्र सरकार विशेष पैकेज दे रही है. वहीं भाजपा के कोटे के एक और मंत्री प्रमोद कुमार ने कहा है कि हमारे सहयोगी क्या कहते हैं यह आप उनसे पूछिए. केंद्र सरकार बिहार को मदद कर रही है.
गौरतलब है कि वित्त आयोग की टीम अपने पांच दिवसीय बिहार दौरे पर आयी हुई है। इस दौरान राजधानी पटना में वित्त आयोग की बैठक होने वाली है। इससे पहले विधानसभा अध्यक्ष विजय चौधरी ने वित्त आयोग से कहा कि बिहार की परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए बिहार की मांग पर सहानुभूतिपूर्वक विचार करने की बात कही. उन्होंने बिहार में नेपाल से आने वाली बाढ़ से होने वाली बर्बादी की चर्चा करते हुए कहा कि बिहार को विशेष राज्य का दर्जा दिया जाये इसकेअलावा उन्होंने कहा कि बिहार के साथ इंसाफ नहीं किया जा रहा है. बता दे कि 15 वें वित्त आयोग के अध्यक्ष एन के सिंह बिहार से ताल्लुक रखते है। उन्होंने कहा कि बिहार से मेरा गहरा लगाव है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.