जनपथ न्यूज डेस्क, पटना
Edited by: राकेश कुमार
27 मई 2022
हिंदी भारतीय साहित्य के लिए आज गौरवपूर्ण पल है। भारतीय लेखिका गीतांजलि श्री को साल 2022 के अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। बता दे कि लेखिका गीतांजलि श्री अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार जीतने वाली पहली हिंदी लेखिका बन गई है।

बिहार के उपमुख्यमंत्री श्री तारकिशोर प्रसाद ने हिंदी उपन्यास “टॉम्ब ऑफ़ सैंड” को अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार मिलने पर इसकी लेखिका गीतांजलि श्री को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दी हैं।
उपमुख्यमंत्री ने कहा कि पहली बार हिंदी उपन्यास को अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार मिला है, जिससे देश गौरवान्वित हुआ है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रभाषा हिंदी आज वैश्विक स्तर पर सम्मानित हुई है।
उन्होंने कहा कि मूल रूप से उत्तर प्रदेश के मैनपुरी की रहने वाली गीतांजलि श्री ने तीन उपन्यास एवं कई कथा संग्रहों की रचना की है। उनके द्वारा लिखित हिंदी उपन्यास “टॉम्ब ऑफ़ सैंड” को अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार मिलने से वैश्विक स्तर पर राष्ट्रभाषा हिंदी सम्मानित हुई है। इससे देश का मान बढ़ा है।

1 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published.