जनपथ न्यूज़ रांची.  सरकार गठन के बाद रविवार शाम हेमंत सोरेन कैबिनेट की पहली बैठक में कई महत्वपूर्ण निर्णय हुए। मंत्रिपरिषद ने फैसला लिया कि पत्थलगड़ी के दौरान हुए सारे मुकदमे वापस लिए जाएंगे। सीएनटी-एसपीटी एक्ट संशोधन के विरोध में हुए आंदोलन के दौरान दर्ज हुई सभी प्राथमिकियां भी वापस ली जाएंगी।
कैबिनेट सचिव अजय कुमार सिंह ने बताया कि छोटानागपुर काश्तकारी अधिनियम (सीएनटी एक्ट) और संथाल परगना काश्तकारी अधिनियम (एसपीटी एक्ट) में संशोधन के विरोध करने के बाद तथा पत्थलगड़ी करने के क्रम में जिन व्यक्तियों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कर मुकदमे दायर किए गए हैं, उन्हें वापस लेने का निर्णय लेते हुए कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया। अजय सिंह ने बताया कि कैबिनेट ने वरीय विधायक स्टीफन मरांडी को प्रोटेम स्पीकर बनाने की अनुशंसा की है। प्रोटेम स्पीकर पंचम झारखंड विधानसभा के चुने गए सदस्यों को शपथ दिलाएंगे।
बदलेगा झारखंड सरकार का प्रतीक चिह्न
उन्होंने कहा कि विभिन्न विभागों में जितनी भी रिक्तियां हैं, उन्हें जल्द भरने का निर्देश दिया गया है। महिलाओं तथा अवयस्कों के विरुद्ध हो रहे यौन उत्पीड़न और अन्य अपराधों की शीघ्र सुनवाई के लिए सभी जिलाें में फास्ट ट्रैक कोर्ट का गठन का निर्णय लिया गया। इसके लिए न्यायिक पदाधिकारियों के आवश्यक पदों के सृजन करने का भी फैसला हुआ। झारखंड सरकार ने अपने प्रतीक चिह्न को भी बदलने का निर्णय लिया है। नए प्रतीक चिन्ह के स्वरूप पर विमर्श करते हुए इसे राज्य की संस्कृति, परंपरा, इतिहास और स्वर्णिम भविष्य के अनुरूप संशोधित करने की आवश्यकता बताई गई। इस संबंध में प्रस्ताव आमंत्रित कर इसे नया स्वरूप देने की कार्रवाई की जाएगी। कैबिनेट ने पांचवीं झारखंड विधानसभा के प्रथम सत्र 6 जनवरी से 8 जनवरी तक आहूत करने की स्वीकृति दी। 6 जनवरी 2020 को विधानसभा के निवनिर्वाचित सदस्यों को शपथ दिलाई जाएगी।
पारा शिक्षक, आंगनबाड़ी सेविका, छात्रवृत्ति आदि के बकाया भुगतान का निर्देश
कैबिनेट ने सभी उपायुक्तों को निर्देश दिया है कि वे विभिन्न प्रखंडों और पंचायतों में शिविर लगाकर पारा शिक्षकों, आंगनबाड़ी सेविका-सहायिका, विभिन्न अनुबंध कर्मियों, विभिन्न श्रेणियों के पेंशन भोगियों, सभी प्रकार की छात्रवृत्तियों के बकाया भुगतान कराएं। सभी उपायुक्त अपने-अपने जिलों में गरीबों के बीच कंबल और ऊनी टोपी वितरित कराएं। जाड़े से राहत के लिए सार्वजनिक स्थलों पर अलाव की व्यवस्था कराएं।
हेमंत सोरेन ने कहा फिर से साथ काम करेंगे, झारखंड को गौरवशाली बनाएंगे
झारखंड मंत्रालय पहुंचने पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन का मुख्य सचिव डीके तिवारी और कैबिनेट सचिव अजय कुमार सिंह ने स्वगत किया और पुस्तक भेंट की। मौके पर मंत्रालय के अधिकारी, और कर्मचारियों ने मुख्यमंत्री का गर्मजोशी से स्वागत किया। अपने कार्यालय में जाने से पहले सीढ़ी पर चढ़ हेमंत ने कर्मचारियों को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि हम फिर से एक साथ काम करेंगे और झारखंड को गौरवशाली बनाएंगे। हमारी नजर में सभी कर्मचारी और अधिकारी बराबर हैं। सब मिलकर अपनी क्षमता और योग्यता के मुताबिक गति देने का भरसक प्रयास करेंगे। झारखंड को ऐसी ऊंचाई पर पहुंचाना है, जहां हम गौरव से कह सकें कि हम सभी झारखंड के निवासी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.