राहील सिद्दीकी /भागलपुर कहलगांव
जिलाधिकारी के निर्देश के बाद बच्चों ने खुद से किया उपस्थिति दर्ज
जनपथ न्यूज़ भागलपुर के जिलाधिकारी के निर्देश के बाद गुरुवार से सनहौला प्रखंड में पढनेवाले सभी सरकारी स्कूलों में उपस्थिति रजिस्टर में बच्चों ने खुद नाम लिखकर उपस्थित पंजीयन पुस्तिका में उपस्थिति दर्ज किया । गौरबतलब है कि अब तक वर्गशिक्षक ही छात्रों की उपस्थिति दर्ज करते थे,ऐसे में उपस्थिति पत्रक में अनुपस्थित छात्र भी उपस्थित हो जाते थे।साथ ही सरकार द्वारा मिलने वाले सभी सुविधाओं से वे लाभांवित होते रहे थे । यह काफी दोषपूर्ण परंपरा थी ।जिलाधिकारी प्रणव कुमार के आदेश के बाद अब उसी छात्र की उपस्थिति होगी जो नियमित विद्यालय आएंगे और हस्ताक्षर स्वयं करेंगें। इससे सरकार की तरफ से मिलने वाली सुविधा का लाभ सही तरीके से छात्रों को मिल पाएगी। सरकारी योजनाओं को अमलीजामा पहनाने के लिए काफी समय से इस दिशा में सक्रिय रहने वाले कलाधर मध्य विद्यालय अरार के प्राचार्य अरुण कुमार सिंह तैयार हैं। उन्होने अपने विद्यालय में शत प्रतिशत छात्रों की उपस्थिति का नायाब तरीका ढूँढ़ा है । उन्होंने 5-5 छात्र व छात्राओं की टीम का गठन किया है जो अभिभावक व जनप्रतिनिधियों से मिलकर छात्रों को नियमित विद्यालय आने को प्रेरित करेंगे। उन्होंने बताया कि स्कूल में बच्चों की उपस्थिति लगातार बढ़ाने के लिए कई तरकीब का इस्तेमाल कर चूके हैं,लेकिन इस बार प्रशासन के आदेश के लगता है कि उनकी तकनीक कारगर साबित होगी। उन्होंने प्रश्न खड़े करते हुए कहा कि सच्चाई यह है कि तमाम विद्यालय के 1से5 के अधिकांश छात्र अपना हस्ताक्षर नहीं कर सकते,ऐसे में वे अपना हस्ताक्षर करना सीखेंगे।अब प्रश्न ये है कि सरकारी विद्यालय में उचित पठन-पाठन के अभाव में क्या अभिभावक अपने बच्चों को वहाँ भेजेंगे जहाँ डिग्री लाओ नौकरी पाओ वाले शिक्षक हैं। अभिभावक अपने बच्चे को सही शिक्षा देना चाहते है ऐसे में क्या वे प्राइवेट विद्यालय से सरकारी में अपने बच्चे को भेजेंगे।हलाँकि जिलाधिकारी के निर्णय का हमें सम्मान करना चाहिए,और ऐसा भी नहीं कि सारे शिक्षक एक जैसे हैं।वहाँ भी कई सुयोग्य शिक्षक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.