जनपथ न्यूज डेस्क
Reported by: गौतम सुमन गर्जना, भागलपुर
Edited by: राकेश कुमार
24 अगस्त 2022

भागलपुर : जिला के सुल्तानगंज स्थित उत्तरवाहिनी गंगा की चर्चा केवल श्रद्धालुओं के लिए अब नहीं रही.श्रावणी मेला जब अपने समापन की ओर लगभग पूरी तरह बढ़ चुका था. उसी समय यहां गंगा में एक मगरमच्छ होने की बात सामने आई और गंगा स्नान करने वालों में हड़कंप मच गया. जबतक वन विभाग कुछ सोच-समझ पाता, मगरमच्छ ने एक व्यक्ति को अपना शिकार भी बना लिया और हमला कर दिया। हालांकि यह व्यक्ति बाल-बाल बचा लेकिन अब मगरमच्छ के दहशत से लोग नदी किनारे जाने में हिचकने लगे हैं।

*गंगा में घूम रहे मगरमच्छ ने आदमी का पैर चबाया* सुल्तानगंज के गंगा में मगरमच्छ घूम रहे हैं. अजगैवीनाथ मंदिर के पीछे वाले हिस्से में इसे देखा जा रहा है। श्रावणी मेला का समापन बेहद सावधानी के साथ करा लिया गया लेकिन अब मगरमच्छ को लेकर लोगों की चिंता बढ़ गई है। हाल में ही मगरमच्छ पानी से बाहर निकलते कई बार देखा गया था। वहीं पिछले दिनों एक व्यक्ति को उसने नदी में खींच लिया। व्यक्ति की जान किसी तरह बच गई लेकिन उसके पैर के एक हिस्से को मगरमच्छ ने चबा लिया, ऐसा उसका दावा था।

*एक से अधिक मगरमच्छ होने की आशंका*
पहले लोगों को एक ही मगरमच्छ की जानकारी हुई थी, लेकिन जब एक व्यक्ति पर उसने हमला कर दिया, तब ये बात सामने आई कि गंगा में यहां पर एक नहीं बल्कि कम से कम दो मगरमच्छ जरुर घूम रहे हैं। क्योंकि एक मगरमच्छ को लोगों ने जहां देखा वहां से कइ किलोमीटर दूर दूसरे मगरमच्छ ने उसी दौरान व्यक्ति पर हमला किया था। अब आलम ये है कि जिन लोगों को ये जानकारी है कि गंगा के इस दायरे में मगरमच्छ का आतंक है वो उधर रिस्क नहीं लेना चाह रहे।

*नहीं करें ये भूल*
एक तरफ जहां वन विभाग की टीम श्रावणी मेला के दौरान से लगातार मगरमच्छ को ढूंढ रही है ताकि उसे दूर सुरक्षित धार में पहुंचाया जा सके। वहीं, दूसरी ओर आम लोग रोजाना मगरमच्छ देख पा रहे हैं और फोटो-वीडियो बना रहे हैं। वहीं वन विभाग की टीम फिर से मगरमच्छ को ढूंढना शुरू कर चुकी है। लोगों से अपील की गयी है कि वो गंगा के गहरे पानी में नहीं जाएं और तैराकी के लिए भी अभी मना किया गया है।

3 Views