जनपथ न्यूज डेस्क
Reported by: गौतम सुमन गर्जना
Edited by: राकेश कुमार
www.janpathnews.com
3 दिसंबर 2022

भागलपुर /मुजफ्फरपुर : ‘क्या फीडबैक है आप लोगों का कुढ़नी को लेकर…आप लोग अपना फीडबैक बताइए न? आप लोग न्यूट्रल बताइएगा न ? हमलोग तो बायस्ड न बोलेंगे? मानें लगेगा आप लोगों को कि बायस्ड है।’ मुजफ्फरपुर में प्रेस कॉन्फ्रेंस करने बैठे जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह कुढ़नी उपचुनाव को लेकर पत्रकारों से फीडबैक मांगने लगे। हालांकि पत्रकारों की ओर से उन्हें कुछ जवाब नहीं मिला। इसके बाद सांसद राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह ने भाजपा को आड़े हाथों लिया और कहा कि इनका काम केवल भ्रम फैलाकर राज करने तक है। चाहे देश स्तर पर महंगाई, अर्थव्यवस्था और बेरोजगारी का मुद्दा हो या नगर निकाय चुनाव में अति पिछड़े समाज को मिल रहे आरक्षण। ये लोगों में सिर्फ और सिर्फ भ्रम फैलाना चाहते हैं। जबकि इनकी मंशा साफ है कि आरक्षण खत्म हो।

मुजफ्फरपुर से मोदी पर बरसे ललन सिंह : प्रेस कॉन्फ्रेंस में ललन सिंह ने कहा कि 2015 के चुनाव में ही आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने आरक्षण खत्म करने के संकेत दे दिये थे। जिस पर पर्दे के पीछे से काम कर रही है। उन्होंने कहा कि सुशील मोदी और भाजपा नगर निकाय चुनाव को लेकर सुप्रीम कोर्ट के जिस आदेश का हवाला दे रही है, हम उसे एक माह पहले नोटिफिकेशन कर चुके हैं। राज्य सरकार की ओर गठित अति पिछड़ा आयोग के रिपोर्ट के आधार पर मध्य प्रदेश में चुनाव कराया जा रहे हैं। इसी तर्ज पर बिहार में चुनाव हो रहा है तो इनको परेशानी हो रही है।

ललन सिंह से मिली नित्यानंद राय को चुनौती : ललन सिंह ने कहा कि ये सारी कारस्तानी आरक्षण समाप्त करने को लेकर है। उन्होंने केंद्रीय गृह राज्य मंत्री की धमकी पर कहा कि उनमें दम है तो कुढ़नी विधानसभा क्षेत्र के 5 गांव का नाम लें, जिसमें वे मत ट्रांसफर करा सकते हैं। मतगणना में ऐसा नहीं होता है तो राजनीति से संन्यास ले लें। उपचुनाव में महागठबंधन प्रत्याशी प्रचंड बहुमत से जीतेंगे। सिंडिकेट के मामले पर ललन सिंह ने कहा कि वे लोग किसी को प्रमाण-पत्र देने वाले होते कौन हैं..? उन्होंने कहा कि उनकी समझ में यह नहीं आता है कि आखिर कुछ बोलने या करने से पहले ऐसे लोग अपने गिरेबां में क्यों नहीं झांकते? वैसे भी भाजपा कोई वाशिंग मशीन नहीं है, जिसमें जाइए तो आप स्वच्छ हो जाते हैं, अलग रहे तो गंदे हैं।

राजद में जदयू का विलय नहीं होगा : राजद के साथ जदयू के विलय के सवाल को भी ललन सिंह ने भाजपा का फैलाया हुआ भ्रम जाल बताया। उन्होंने कहा कि राजग में रहते भाजपा ने जदयू को कमजोर करने की साजिश जरूर रची थी। उन्होंने नीलभ कुमार को साजिश के तहत खड़ा कराए जाने के भाजपा के आरोप पर कहा कि जो लोग अपने घर तेलंगाना में प्रत्याशी खड़ा नहीं करते, उन्हें कुढ़नी, यूपी, बंगाल और गोपालगंज में चुनाव लड़ाना साजिश नहीं है क्या? ललन सिंह ने कहा कि राजग में रहते हुए भी उन्होंने सदैव गलत नीतियों का विरोध किया, चाहे तीन तलाक का मामला हो, धारा 370 हटाने का फैसला हो या अग्निवीर की बहाली का निर्णय। उन्होंने हमेशा ही इन सबका खुलकर विरोध किया।

2024 में जनता मांगेगी हिसाब : जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने स्पष्ट कहा कि केंद्र सरकार महंगाई, बेरोजगारी और गिरती अर्थव्यवस्था जैसे मूल मुद्दे से जनता को भटका कर मंदिर मस्जिद और पूजा में रमाये रहना चाहती है। लेकिन यह खेल अब चलने वाला नहीं है। 2024 के चुनाव में जनता अर्थव्यवस्था, महंगाई, बेरोजगारी और डॉलर के मुकाबले गिरते रुपए को लेकर हिसाब मांगेगी। साथ ही प्रतिवर्ष दो करोड़ नौकरी के वायदे पर भी भाजपा को घेरने का काम करेगी। इस मौके पर जदयू विधायक पंकज मिश्रा और विधान परिषद सदस्य दिनेश सिंह मौजूद थे।

 213 total views,  3 views today