पटना के जक्कनपुर थाना अध्यक्ष
कमलेश प्रसाद शर्मा पर भ्रष्टाचार के आरोप, ऑफिस लेकर छपरा के घर तक छापेमारी, निकले
करोड़पति………

Edited By: राकेश कुमार
जनपथ न्यूज
अक्टूबर 31, 2021

पटना: पटना के जक्कनपुर के थानेदार कमलेश शर्मा ने अपनी आय से काफी अधिक धन जमा किया है। राज्य की आर्थिक अपराध इकाई के पटना से सारण तक शर्मा के चार ठिकानों पर मारे गए छापों में इसका खुलासा हुआ है। आर्थिक अपराध शाखा ने आर्थिक अपराध थाना काण्ड संख्या 22/ 2021 दिनाक 29 अक्टूबर 2021, धारा 13(1)(b)भ्रस्ताचार निरोध अधिनियम ,1988 के तहत न्यायालय से तलाशी का वारंट हासिल किया था।

आर्थिक अपराध इकाई की ओर से छापे जक्कनपुर थाना स्थित आवास और कार्यालय से लेकर सादिकपुर के आर्चिड रेसीडेंसी स्थित फ्लैट, आरा गार्डन रोड के श्रेया अपार्टमेंट स्थित फ्लैट तथा सारण जिले के मकेर गांव स्थित पैतृक आवास पर मारे गए।

इसमें थानाध्यक्ष के पास दो करोड़ रुपये से अधिक की चल-अचल संपत्ति का पता चला है। थानेदार व उनकी पत्नी के बैंक खातों में 92 लाख 80 हजार 770 रुपये नकद जमा पाए गए हैं। तलाशी के दौरान जांच टीम ने करीब 11 बैंक खाते, पोस्ट आफिस में निवेश से जुड़े कागज व अन्य कागजात जब्त किए हैं, जिनकी समीक्षा की जा रही है। बैंक खातों को फ्रीज करने का निर्देश दिया गया है। ईओयू अधिकारियों के अनुसार, कागजातों की जांच व अग्रतर कार्रवाई में कई और चल-अचल संपत्ति की जानकारी मिलने की संभावना है।

ईओयू अधिकारियों के अनुसार कमलेश प्रसाद शर्मा इससे पहले बख्तियारपुर के थानाध्यक्ष थे। वहां से तबादले के बाद हाल ही में जक्कनपुर थाने की जवाबदेही मिली थी। उनके खिलाफ पद का दुरुपयोग कर अवैध स्रोत से कमाई करने की गुप्त सूचना मिली थी। सत्यापन के दौरान इसकी पुष्टि होने पर उनके विरुद्ध आय से अधिक संपत्ति के मामले में प्राथमिकी दर्ज करते हुए कार्रवाई शुरू की गई है। उन्हें जल्द ही निलंबित किया जा सकता है।

पटना के आरा गार्डेन में थानाध्यक्ष की पत्नी रश्मि शर्मा के नाम पर दो फ्लैट हैं। श्रेया अपार्टमेंट स्थित फ्लैट संख्या 104 और आर्किड रेसिडेंसी स्थित फ्लैट संख्या 401 में सुबह-सुबह ही टीम ने धावा बोला। जांच में पता चला कि दोनों फ्लैट खरीदने में 31 लाख 37 हजार 400 रुपये खर्च किए गए हैं। इसके अलावा जक्कनपुर थाना स्थित कार्यालय व आवास और सारण के मकेर स्थित थानाध्यक्ष के पैतृक आवास पर भी ईओयू की अलग-अलग टीमों ने तलाशी ली। इस दौरान कई तरह के कागजात जब्त किए गए हैं। ईओयू की जांच में इनकी अनुमानित आय करीब एक करोड़ 88 लाख 41 हजार 215 रुपये पाई गई जबकि कुल अनुमानित व्यय करीब एक करोड़ 57 लाख 48 हजार 435 रुपये पाया गया। जबकि इनकी कुल चल व अचल संपत्ति दो करोड़ तीन लाख 25 हजार रुपये पाई गई है।

1 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published.