बिहार के सहरसा जिले में प्रतिबंधित क्षेत्र में जाने का विरोध करने पर बदमाशो ने रिटायर वन विभाग के कर्मचारी की जमकर पिटाई कर दी, रिटायर वन विभाग का कर्मचारी अस्पताल में भर्ती

जनपथ न्यूज डेस्क, सहरसा
Reported by: विकास कुमार
Edited by: राकेश कुमार

सहरसा: बिहार के सहरसा जिले में एक बार फिर अपराधियों का तांडव देखने को मिला और इस बार तो अपराधियों ने हद पार कर दी। सहरसा के वन विभाग के नर्सरी में कार्यरत कर्मी सर्वेश कुमार द्वारा बदमाशों को प्रतिबंधित क्षेत्र न जाने का विरोध किया तो बदमाशों ने जमकर रिटायर वन विभाग के कर्मी की जमकर धुलाई कर दी जिस से रिटायर वन विभाग के कर्मी सर्वेश कुमार बुरी तरह जख्मी हो गए। घटना की जानकारी जैसे ही वन विभाग के अधिकारियों को मिली तो वह आनन-फानन में जख्मी रिटायर वन कर्मचारी को इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया। रिटायर वन विभाग के कर्मी सर्वेश कुमार का उपचार जारी है।

बता दे कि पूरा घटनाक्रम सहरसा सदर थाना क्षेत्र के हवाई अड्डा के समीप घटी है बताया जा रहा है कि पिटाई से घायल सर्वेश कुमार बेगूसराय जिले के रहने वाले हैं जो सहरसा में ड्यूटी कर रहे थे। जख्मी सर्वेश कुमार ने जनपथ न्यूज से बात करते हुए बताया कि 15 से 20 की संख्या में बदमाश नर्सरी के प्रतिबंधित क्षेत्र से जाने का प्रयास कर रहे थे जिसका विरोध किए जाने पर बदमाशो में पीटना शुरू कर दिया। अब सवाल यह है कि आए दिन इस तरह की घटना जिले में हो रही है लेकिन प्रशासन क्यों मूकदर्शक बना हुआ है। जिस जगह यह घटना घटी उस जगह अक्सर लूट और मारपीट जैसी घटनाएं घटती रहती है। कहा जाता है कि उस जगह पर बदमाश अक्सर बैठा करते हैं और रणनीति तैयार करते हैं और आते-जाते राहगीरों से लूटपाट भी की जाती है और उसका विरोध किए जाने पर उन्हें गोली मार दी जाती है और ऐसे मामले लगातार सामने आता है। ऐसे में सवाल यह है कि आखिरकार इस तरह की घटना हो ना कहीं ना कहीं पुलिस अधिकारियों पर भी सवाल है जब पुलिस अधिकारी के कर्मी ही सुरक्षित नहीं है तो ऐसे में जिले वासी कैसे सुरक्षित रह पाएंगे।

2 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published.