जनपथ न्यूज़ रांची . 5वीं झारखंड विधानसभा का पहला सत्र साेमवार से पुरानी विधानसभा भवन में शुरू हुआ। प्राेटेम स्पीकर स्टीफन मरांडी ने नवनिर्वाचित विधायकों को शपथ दिलाई। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने दुमका सीट छोड़, बरहेट सीट के विधायक के तौर पर शपथ ली। इसके बाद सभी नवनिर्वाचित विधायकों ने शपथ ली। इधर, रविंद्रनाथ महतो का विधानसभा अध्यक्ष चुना जाना तय है।

  • हेमंत सोरेन ने दो सीट दुमका और बरहेट से चुनाव लड़ा था। दोनों ही सीट पर जीत दर्ज की थी। सत्र शुरू होने के पहले उन्हें एक सीट से इस्तीफा देना था। हेमंत सोरेन ने दुमका सीट को छोड़ बरहेट से विधानसभा सदस्यता की शपथ ली।
  • सोमवार को विधानसभा सत्र के पहले दिन स्पीकर पद के लिए नामांकन का समय 12 बजे तक के लिए था। इस दौरान सिर्फ रविंद्रनाथ महतो ने ही स्पीकर पद के लिए नामांकन किया।
  • विपक्ष की ओर से किसी भी विधायक द्वारा स्पीकर पद के लिए नामांकन नहीं किया गया। इस तरह स्पीकर पद पर उनके चुने जाने की अब मात्र औपचारिकता शेष बची है।
  • झामुमो विधायक समीर मोहंती सत्र में उपस्थित नहीं हो सके। इसका कारण फिलहाल स्पष्ट नहीं है। वहीं भाजपा विधायक दल के नेता का चुनाव अभी तक नहीं हुआ है। पार्टी ने 14 जनवरी के बाद विधायक दल के नेता का चुनाव करने का फैसला किया है।

55 विधायकों ने हिंदी में जबकि भाजपा के तीन विधायकों ने संस्कृत में ली शपथ
विधानसभा में 55 विधायकों ने हिंदी में जबकि धनबाद, राजमहल और बोकारो से भाजपा के विधायकों ने संस्कृत में शपथ ली। वहीं अंगिका भाषा में देवघर, गढ़वा और गोड्डा से भाजपा विधायकों ने शपथ ली। अन्य विधायकों ने संथाली व अन्य भाषा में शपथ ली।
सदन मंगलवार तक के लिए स्थगित
सत्र के मद्देनजर विधानसभा के आसपास के क्षेत्राें में धारा 144 लागू कर दी गई थी। शपथ ग्रहण के बाद सदन की कार्यवाही मंगलवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई।