जनपथ न्यूज डेस्क

Reported by: गौतम सुमन गर्जना/भागलपुर
Edited by: राकेश कुमार
8 सितंबर 2022

भागलपुर : भागलपुर शहर के बरारी थाना क्षेत्र स्थित हनुमान घाट के समीप पीपली धाम मोहल्ले में शनिवार की सुबह भागलपुर नगर निगम के स्थापना शाखा प्रभारी गौतम मल्लिक की संदेहास्पद स्थिति में हुई मौत के मामले में अब बड़ा खुलासा हुआ है। पोस्टमार्ट रिपोर्ट में ये स्पष्ट हो गया है कि गौतम मल्लिक ने आत्महत्या नहीं की थी बल्कि उनकी हत्या की गई थी। गले में रस्सी के निशान इसलिये मिले थे, क्योंकि किसी ने गला दबाकर शाखा प्रभारी की हत्या कर दी थी।

*पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हत्या का खुलासा*
नगर निगम के शाखा प्रभारी गौतम मल्लिक की हत्या गला दबाकर की गई थी। मंगलवार की देर शाम को उनकी पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ चुकी है, जिसमें उक्त बातों का खुलासा हुआ है। पुलिस को सौंपे पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मेडिकल कॉलेज की ओर से बताया गया है कि रस्सी से गला दबाकर उनकी हत्या की गई है। वहीं, गौतम के सिर पर चोट के भी निशान मिले हैं, जिससे इसका अनुमान लगाया जा रहा है कि वारदात को अंजाम देने के दौरान गौतम मल्लिक और हत्यारे के बीच हाथापाई भी हुई होगी।

*परिवारजनों की भूमिका संदिग्ध*
गौतम मल्लिक हत्याकांड मामले में अब पुलिस मृतक के घर के उस कमरे की फिर से जांच करेगी, जहां गौतम की पत्नी पार्वती देवी ने गौतम को मृत अवस्था में पड़े होने की बात कही थी। हालाकि, पुलिस का मानना है कि गौतम के मरने के करीब 5 घंटे बाद पुलिस को सूचना दी गई और पुलिस को बताने के पहले ही उस कमरे को अच्छी तरह से साफ कर दिया गया था। पुलिस इसे साक्ष्य छिपाने का आधार मान रही है।

*चार शालों और ससुर के विरुद्ध हत्या का केस दर्ज* विदित हो कि गौतम मल्लिक के मौत मामले में मृतक की मां के लिखित आवेदन के आधार पर हत्या का केस दर्ज किया गया है। गौतम के चार शालों और ससुर के विरुद्ध हत्या का केस दर्ज कराया गया, जो घटना के बाद से फरार हैं। गौतम की पत्नी ने उसकी शादी अपनी बहन से भी कराई थी, जिसे लेकर लगातार विवाद भी छिड़ा रहता था। पुलिस अब हत्या की गुत्थी सुलझाने में लगी हुई है।

4 Views