पटना के नेहरू नगर में एक ही परिवार के 6 लोग कोरोना संक्रमित

राकेश कुमार/जनपथ न्यूज
नवम्बर 21, 2021

पटना: छठ महापर्व की समाप्ति के बाद जिस बात का डर सता रहा था वो अब हकीकत बन कर सामने आने लगा है और धीरे-धीरे कोरोना संक्रमण मरीजों की संख्या में इजाफा होने लगा है।

पटना के नेहरू नगर में एक ही परिवार के छह लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। संक्रमित पाए गए लोगों में दो भाई, उनकी पत्नी, एक भाई की बेटी और उनके पिता शामिल हैं। पिता और एक भाई गंभीर होकर शुक्रवार को एम्स में भर्ती भी कराए गए हैं। बाकी चार लोगों में बेटी को छोड़ सब लोगों की हालत में पर्याप्त सुधार है। जांच रिपोर्ट आने के दो दिन बाद भी सिविल सर्जन कार्यालय और जिला प्रशासन के कंट्रोल रूम द्वारा पीड़ित परिवार की कोई सुध नहीं ली जा रही है। सिविल सर्जन कार्यालय द्वारा ना तो परिवार से संपर्क किया गया और ना ही उनके संपर्क में आए लोगों के बारे में जानकारी हासिल की गई। यही नहीं थ्री टी- ट्रेसिंग, टेस्टिंग और ट्रीटमेंट के सीएम के फॉर्मूले को भी सिविल सर्जन कार्यालय द्वारा पूरी तरह से भुला दिया गया है।

परिवार कोरोना के किस वैरिएंट से ग्रसित हैं, इसकी जानकारी भी सिविल सर्जन कार्यालय द्वारा अबतक हासिल नहीं की गई है। अब पूरे मोहल्ले और परिवार के संपर्क में आनेवाले लोगों के बीच संक्रमण को लेकर दहशत है। जिस परिवार के छह लोग कोरोना संक्रमित पाए गए उनके सदस्य दीवाली और छठ पूजा के दौरान पटना आए थे। एक भाई रांची से और एक भाई सासाराम से आया था। परिवार के एक सदस्य ने बताया कि परिवार के सदस्य एक-एक कर बुखार, खांसी और सांस की तकलीफ से पीड़ित होने लगे। रांची से आया भाई सबसे पहले अपनी जांच एक निजी लैब में कराया। एक दिन बाद उसको कोरोना संक्रमित होने की सूचना मिली। तब परिवार के अन्य सदस्यों ने न्यू गार्डिनर रोड अस्पताल में अपनी जांच कराने आए। वहां पांच लोग संक्रमित पाए गए।

सिविल सर्जन डॉ. विभा सिंह ने बताया कि सभी कोरोना संक्रमितों के संपर्क में आनेवाले लोगों और उनके परिवार के सदस्यों की कोरोना जांच कराने का निर्देश जिला महामारी नियंत्रण पदाधिकारी प्रशांत कुमार को दिया गया है। नेहरू नगर के लोगों की भी ट्रेसिंग कर जांच क्यों नहीं हुई, इसकी जानकारी लेगी। इससे पहले इंग्लैंड से आए संक्रमित के संपर्क में पटना और मोतिहारी में आए लोगों और उनके परिवार के 27 सदस्यों की कोरोना जांच की गई है। उनमें कोई पॉजिटिव नहीं आया है। इंग्लैंड का युवक किस वैरिएंट से ग्रसित है, इसकी रिपोर्ट अभी डब्ल्यूएचओ से नहीं आई है।

2 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published.