पुस्तक का संदेश जन-जन तक पहुंचने के लिए पुस्तक का हिन्दी अनुवाद होना चाहिए : संजय कुमार

यूथ होस्टल्स एसोसिएशन ने सदस्यता दे कर किया सम्मानित

जनपथ न्यूज डेस्क
Reported by: जितेन्द्र कुमार सिन्हा
Edited by: राकेश कुमार
www.janpathnews.com
25 नवम्बर 2022

हर्षिता भारती ने मात्र 15 वर्ष की उम्र में अंग्रेजी की दूसरी पुस्तक ‘एप्रीका-बी’ लिखकर पटना ही नहीं बिहार राज्य को गौरवांवित किया है। इससे पूर्व कोरोना काल में ही उसने पहली पुस्तक ‘द डेविल इन यू’ लिखी थी जिसने खूब धूम मचाई थी। यह पुस्तक अमेजन और गूगल पर उपलब्ध है।

सगुना स्थित एक निजी भवन में आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि पीआईबी (प्रेस इन्फारमेशन ब्यूरो), पटना के सहायक निदेशक संजय कुमार द्वारा पुस्तक का विमोचन किया गया। इस अवसर पर उन्होने नवोदित लेखिका हर्षिता भारती को उभरती प्रतिभा बताते हुए शुभकामनाए दी और पुस्तक की हिन्दी अनुवाद की इच्छा व्यक्त की और कहा कि पुस्तक की हिन्दी अनुवाद होने पर इस पुस्तक का संदेश जन – जन तक पहुंच सकेगा।

उक्त अवसर पर यूथ होस्टल्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया,बिहार राज्य शाखा के प्रदेश उपाध्यक्ष सुधीर मधुकर ने कहा कि हर्षिता कम उम्र में दो-दो पुस्तकों की लेखिका बन कर जो उपलब्धियां पाई है, संगठन की ओर से बधाई देने के साथ-साथ यूथ होस्टल्स इसे एसोसिएशन की सदस्यता दे कर सम्मानित कर रही है।

वहीं हर्षिता ने बताया कि “हर्षिता भारती” पेन नाम (एप्रीका – बी) द्वारा लिखी द्वितीय पुस्तक ” ए सन सो ब्राइट जो कि एक अंग्रेजी कविता के रूप में लिखी एक कहानी है इसमें प्यार, दुख एवं अफसोस का नायिका के जीवन का सजीवता से वर्णन किया गया है। लौक्सले हाल पब्लिशर्स द्वारा इस पुस्तक का प्रकाशन किया गया है। हर्षिता बताती हैं कि उन्होंने लिखने की शुरुआत हॉबी के तौर पर की थी।

उक्त अवसर पर हर्षिता के पिता रेलवे इंजीनियर राज कुमार भारती, मां सविता भारती, पूर्व पुलिस अधीक्षक सुधाकर श्याम किशोर, मेंटर निशांत सर, नरेन्द्र कुमार, राहुल एवं अन्य गणमान्य लोग उपस्थित थे।

 155 total views,  3 views today