नीतीश कुमार को पत्र लिखकर निशाने पर आए तेजस्वी, जदयू एमएलसी संजय सिंह ने कहा- नेता प्रतिपक्ष बहा रहे घड़ियाली आंसू

Edited By: राकेश कुमार
जनपथ न्यूज/सितंबर 13, 2021

पटना: बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने शनिवार को प्रदेश के मुखिया नीतीश कुमार को पत्र लिखा है। पत्र में उन्होंने ये मांग की है कि पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह और रामविलास पासवान की बिहार में प्रतिमा स्थापित करते हुए उनकी जयंती और पुण्यतिथि को राजकीय समारोह घोषित किया जाए। हालांकि, इस बाबत मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर वे निशाने पर आ गए हैं। जदयू एमएलसी संजय सिंह ने प्रेस बयान जारी कर नेता प्रतिपक्ष पर निशाना साधा है। साथ ही उनकी मांग को दिखावटी बताया है।

जदयू एमएलसी संजय सिंह ने कहा, ” लालू परिवार पहले जख्म देता है, उसके बाद उस चोट पर मरहम लगाता है। ऐसा ही वो रघुवंश प्रसाद के मामले में कर रहा है। तेजस्वी यादव ने पहले तो रघुवंश प्रसाद को अपमानित किया, उन्हें बेइज्जत करके प्रताड़ित किया। अब वे नीतीश कुमार को चिट्ठी लिखकर यह जताने की कोशिश कर रहे हैं कि वे रघुवंश प्रसाद के हितैषी और शुभचिंतक हैं। जबकि दिवंगत नेता को लालू यादव के इन दोनों बच्चों ने इतना प्रताड़ित और अपमानित किया कि उन्होंने अपने अंतिम समय में आरजेडी से त्यागपत्र दे दिया। अंतिम समय में उनको इन लोगों ने खून के आंसू रुलाया।

उन्होंने कहा,” तेजस्वी यादव नीतीश कुमार को चिट्ठी लिखकर यह कह रहे हैं कि रघुवंश प्रसाद के सपने को पूरा करना है, उनकी आदमकद प्रतिमा बनानी है। वो ये जान लें कि नीतीश कुमार समाजवाद की वह वट वृक्ष हैं, जो यह जानते हैं कि एक समाजवादी नेता समाज के विकास के लिए क्या कर सकता है और उसे क्या करना चाहिए। इसके लिए वे बहुत सजग और सचेत रहते हैं। रघुवंश प्रसाद के सपनों को वो ही पूरा कर रहे हैं। उन्होंने पहले ही भरोसा दिया था कि अंतरराष्ट्रीय स्तर के बनने वाले संग्रहालय के पूर्ण होने पर भगवान बुद्ध के पवित्र अवशेष को वैशाली में ही प्रदर्शित किया जाएगा. उसके लिए कवायद भी शुरू हो गई है।”

2 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published.