संविदा पर बहाल होंगे मद्य निषेध निरीक्षक और दारोगा

जनपथ न्यूज
न्यूज डेस्क पटना
Reported by: गौतम सुमन गर्जना
Edited by: राकेश कुमार
www. janpathnews.com
25 दिसंबर 2022

भागलपुर/पटना : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जनवरी के दूसरे हफ्ते से पुन: यात्रा पर निकल सकते हैं। उनकी यह यात्रा शराबबंदी पर केंद्रित होगी। वह अपनी यात्रा के क्रम में होने वाली सभाओं में लोगों को यह बताएंगे कि किस तरह से शराबबंदी लोगों के हित में है। अपनी यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री लोगों को यह भी समझाएंगे कि जो लोग शराबबंदी के खिलाफ बोल रहे हैं वे उनके व समाज के हित की बात नहीं कर रहे। मुख्यमंत्री ने समाप्त हुए शीतकालीन सत्र के दौरान ही यह संकेत दिया था कि वह यात्रा पर निकल सकते हैं।

यात्रा की तारीख जल्द ही घोषित होगी : मुख्यमंत्री की यात्रा की तारीख अभी तय नहीं हुई है पर संभावना है कि जनवरी के दूसरे हफ्ते वह उत्तर बिहार के किसी जिले से अपनी यात्रा शुरू करेंगे। यात्रा का नाम भी जल्द ही तय होगा। इस यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री शराब के दुष्प्रभावों पर लोगों से बात तो करेंगे ही साथ ही शराबबंदी व अन्य मसले पर अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक भी करेंगे। जिले के प्रभारी मंत्री और आला अधिकारी भी होंगे शामिल।

शराबबंदी के मसले पर दूसरी बार होने वाली मुख्यमंत्री की यात्रा में जिले के प्रभारी मंत्री व आला अधिकारी भी शामिल होंगे। उच्च स्तर पर जिले के अधिकारियों को यह संदेश भेजा गया है कि अपने स्तर पर वह मुख्यमंत्री की इस यात्रा की तैयारी शुरू कर दें। उन्हें यात्रा की संभावित तारीख के बारे में बता दिया जाएगा।

सतत जीविकोपार्जन योजना के तहत कितने लोगों को लाभ मिला इस पर भी होगी बात : पूर्व में शराब का धंधा करने वाले गरीब-गुरबों को सतत जीविकोपार्जन योजना का लाभ किस तरह से मिला इस बारे में भी मुख्यमंत्री जिला स्तर पर जायजा लेंगे। इस योजना का लाभ ले चुके लोगों के अनुभवों को सुनेंगे। इस योजना के तहत सरकार एक लाख रुपये तक की मदद दे रही। मुख्यमंत्री यह कह चुके हैं कि जरूरत पड़ने पर इस राशि को वह बढ़ा भी सकते हैं।

संविदा पर बहाल होंगे मद्य निषेध निरीक्षक व दारोगा
मद्य निषेध, उत्पाद एवं निबंधन विभाग संविदा पर पदाधिकारियों को बहाल करेगा। मद्य निषेध निरीक्षक, अवर निरीक्षक व सहायक निरीक्षक के रिक्त पदों पर संविदा के आधार पर एक वर्ष के लिए नियोजन होगा। इसके लिए सेवानिवृत्त पदाधिकारियों से आवेदन मांगा गया है। विभाग ने इसके लिए नियोजन सूचना जारी कर दी है।

विभाग के अनुसार, संविदा पर नियोजन के लिए अधिकतम उम्र 65 वर्ष तय की गई है। विभाग ने इच्छुक सेवानिवृत्त पदाधिकारियों से पांच जनवरी तक आवेदन मांगा है। आवेदन पत्र विकास भवन स्थित विभाग के मुख्यालय में जमा करना है।

समय-समय पर होगी काम की समीक्षा : विभाग के अनुसार, नियोजित कर्मी के काम की समय-समय पर विभाग के स्तर से समीक्षा की जाएगी। अगर काम संतोषनजक नहीं पाया गया तो संविदा समाप्त की जा सकती है। नियोजन में सरकार के आरक्षण नियमों का पालन किया जाएगा। नियोजन के लिए उन्हीं आवेदकों पर विचार होगा, जिनके विरुद्ध पूर्व से कोई निगरानी या विभागीय कार्यवाही न चल रही हो। इसके अलावा उन्हें पहले किसी मामले में दंडित न किया गया हो और कोई गंभीर आपराधिक मामला भी दर्ज न हो।

 182 total views,  3 views today