जनपथ न्यूज डेस्क

Reported by: गौतम सुमन गर्जना/भागलपुर
Edited by: राकेश कुमार
8 सितंबर 2022

भागलपुर : बिहार के भागलपुर जिले से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। गोपालपुर थाना क्षेत्र के सैदपुर गांव में शौचालय की टंकी का शेटरिंग खोलने गए तीन में से दो मजदूरों की दम घूटने से मौत हो गई। घटना में मारे गए एक मजदूर का नाम सिंटू शर्मा है। वहीं, दूसरा मृतक उसका ही रिश्तेदार बताया जा रहा है। वहीं बेहोश हुए तीसरे व्यक्ति का पीएससी में इलाज चल रहा है। हालांकि, घटना के बाद भी मजदूरों को सम्मान नहीं मिला। पुलिस उनके शव को ट्रैक्टर पर लादकर ले गई।

*टैंक के निर्माण में लगे थे चार लोग*
बताया जा रहा है कि सेप्टिक टैंक का निर्माण एक वर्ष पहले ही हुआ था, लेकिन इसकी शेटरिंग अब खोला जा रहा था। बाहर खड़े मजदूर ने घटना के बारे में बताया कि दो मजदूर टैंक की सफाई के लिए शाम तीन बजे के आस-पास सेप्टिक टैंक में उतरे, उनके टैंक में उतरते ही अजीब सी आवाज आने लगी। ऐसे में तीसरे व्यक्ति भी उन्हें बचाने के लिए गया लेकिन बचाने गए व्यक्ति की भी हालत गंभीर हो गई। शोर सुनकर आसपास के लोग वहां पहुंच गए और फिर लोगों की मदद से तीनों को बाहर निकाला गया, लेकिन तब तक दो की मौत हो चुकी थी। वहीं, तीसरे को इलाज के लिए भर्ती करा दिया गया।

*तीन-चार महीने से टैंक सफाई का काम कर रहा था सिंटू*
घटना में दम घुटने से मरे हुए सिंटू शर्मा की पत्नी सोनी देवी ने बताया कि टैंक की गहराई 10 फीट थी, उसमें जहरीली गैस के कारण सिंटू की मौत हुई है। उसने बताया कि उसके तीन बच्चे हैं। अब उसके पास आजीविका का कोई आधार नहीं है। घटना के बाद से दोनों परिवार में मातम का माहौल छाया हुआ है।

*बेहोश मजदूर की हालत स्थिर*
बेहोश मजदूर का इलाज कर रहे गोपालपुर पीएचसी प्रभारी डॉ० सुधांशु कुमार ने बताया कि दो मजदूरों की मौत मौके पर ही हो गयी थी। हालांकि, उन्हें ऑक्सीजन दिया गया, लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका। वहीं, बेहोश हुए तीसरे व्यक्ति का ईलाज किया जा रहा है, उसकी हालत स्थिर है, जरुरत हुई तो उसे बड़े अस्पताल रेफर किया जाएगा।

4 Views