जनपथ न्यूज डेस्क

Repoeted by: गौतम सुमन गर्जना, भागलपुर
Edited by: राकेश कुमार
5 अगस्त 2022

भागलपुर: शहर के वार्ड 41 से वार्ड 45 व 44 का कनेक्शन बंद करने के बाद पांच हजार लोगों को एक माह से गंभीर पेयजल संकट झेलना पड़ रहा है। यहां के लोग एक-एक किलोमीटर तक दूर जाकर पानी लाते हैं। लोगों ने बताया कि होली के समय से ही कनेक्शन बंद था, फिर नगर निगम में शिकायत की गयी। छह लोगों की टीम ने आकर कनेक्शन जोड़ा तो पानी आने लगा।

*पार्षद पति पर लोगों ने लगाए गंभीर आरोप*
स्थानीय लोगों ने आरोप लगाया कि एक माह पहले निवर्तमान पार्षद के पति ने आकर कनेक्शन काट दिया था। इसके बाद वार्ड 44 के गुदड़गंज, हसनगंज रोड, वार्ड 45 के काजीचक, पन्ना मिल रोड व खरादी टोला के 1000 परिवार के बीच पेयजल संकट गहरा गया। यहां के लोगों को काजीचक काली स्थान के समीप तो कभी बाल्टी कारखाना के जनता नल से पानी लाना पड़ रहा है।

आठ चापाकल में छह हैं खराब दो पर निर्भरता, जलस्तर नीचे जाने से निजी बोरिंग भी हो चुके हैं फेल, लोग बोले- कमाने जाएं या फिर पानी लाने।

*लोगों का दर्द*
इस मामले को लेकर हसनगंज रोड निवासी ओमप्रकाश गुप्ता ने बताया कि 40 साल से बाल्टी कारखाना वार्ड 41 से पानी कनेक्शन था। कनेक्शन काट दिया गया। होली से पहले पानी आना बंद हो गया। पानी के लिए इस उम्र में भी भटकना पड़ रहा है। वहीं, खरादी टोला के सचिव मो. अजीम ने कहा कि नगर निगम कर्मचारी ने चाबी खोला था, लेकिन पार्षद के पति ने बंद करा दिया। तभी से संकट गहरा गया है। गजला अजीम कहतीं है कि जल समस्या को लेकर नगर आयुक्त से लेकर विधायक तक गुहार लगा चुकी हूं, लेकिन अब तक स्थायी निदान नहीं कराया गया। पानी पिलाना आदमीयत है, लेकिन कनेक्शन काट दिया गया। स्थानीय राकेश ने कहा कि पानी के लिए बच्चे व महिलाओं को भटकना पड़ता है। अधिकतर पुरुषों को रोजगार के लिए बाहर जाना पड़ता है. पानी कौन लाये, यह समस्या हो जाती है।

 39 total views,  3 views today