जनपथ न्यूज़  पटना. जदयू नेता और चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (पीके) ने ट्वीट कर गृह मंत्री अमित शाह को चैलेंज दिया है कि वे नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और एनआरसी लागू करके दिखाएं। प्रशांत ने बुधवार को ट्वीट किया कि नागरिकों की असहमति को खारिज करना किसी भी अच्छी सरकार की ताकत का संकेत नहीं है। अगर अमित शाह विरोध करने वालों की परवाह नहीं करते तो क्यों नहीं आगे बढ़कर सीएए और एनआरसी को लागू कर देते हैं? शाह ने तो संसद में सीएए और एनआरसी लागू करने का वादा देशवासियों से किया था।


सीएए वापस नहीं होगा: अमित शाह
केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने मंगलवार को नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन में लखनऊ में रैली की थी। उन्होंने इसमें कहा था- मैं डंके की चोट पर कहता हूं कि जिसे विरोध करना हो करे, सीएए वापस नहीं होगा। मैं देश को बताना चाहता हूं कि सीएए के खिलाफ दुष्प्रचार किया जा रहा है। सीएए के खिलाफ राहुल बाबा, ममता, अखिलेश, मायावती समेत सारी ब्रिगेड कांव-कांव कर रही है। भाजपा अपने स्टैंड पर कायम है।
सीएए की लगातार मुखालफत कर रहे हैं प्रशांत
प्रशांत किशोर लगातार नागरिकता संशोधन कानून की मुखालफत कर रहे हैं। जदयू द्वारा संसद में इस बिल के समर्थन के बावजूद पीके इसके खिलाफ आवाज उठा रहे हैं। पिछले दिनों प्रशांत ने सीएए और एनआरसी का विरोध करने के लिए राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को धन्यवाद भी दिया था। लोगों को आश्वासन देते हुए कहा था कि बिहार में सीएए और एनआरसी लागू नहीं होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.