*जानिये केसीआर ने क्या कहा*

जनपथ न्यूज डेस्क/पटना
Reported by: गौतम सुमन गर्जना/भागलपुर
Edited by: राकेश कुमार
2 सितंबर 2022

पटना: बिहार में अब सियासी समीकरण बदल चुका है। बिहार में जदयू ने भाजपा से नाता तोड़ा और नीतीश कुमार के नेतृत्व में अब राजद व कांग्रेस के साथ महागठबंधन की सरकार बन चुकी है। बिहार की नई सरकार वाली गठबंधन ने सीधे तौर पर केंद्र की मोदी सरकार को ललकारा है और आगामी चुनाव के लिए चेतावनी दी है। इस बीच तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव बिहार दौरे पर आए और विपक्ष के पीएम उम्मीदवार के नाम पर उन्होंने बड़ा बयान दिया है।

*भाजपा मुक्त भारत का संदेश*
तेलंगाना के मुख्यमंत्री केसीआर पटना आए तो इस दौरान केंद्र की भाजपा सरकार पर जमकर बरसे। बीजेपी को सत्ता से उखाड़ फेंकने और भाजपा मुक्त भारत की उन्होंने बात की। इस दौरान केसीआर राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव से भी मिले।

*विपक्षी दलों को एकजुट करने की कोशिश*
केसीआर का बिहार दौरा स्पष्ट तौर पर विपक्षी दलों को एकजुट करने की योजना से जुड़ा ही दिखा। नीतीश कुमार, केसीआर और लालू प्रसाद यादव तीनों ने एक सुर से आगामी लोकसभा चुनाव में दिल्ली की गद्दी से भाजपा को उतारने की ही बात की।

*प्रधानमंत्री उम्मीदवारी को लेकर उठे सवाल*
इस दौरान मीडिया से बातचीत कर रहे केसीआर के सामने धर्मसंकट की स्थिति तब बन गयी जब आगामी लोकसभा चुनाव 2024 में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार को हराने के लिए विपक्ष की ओर से प्रधानमंत्री उम्मीदवार की बात हुई। मीडिया की ओर से साफ शब्दों में पूछा गया कि आप जिसे हराने की बात कर रहे हैं (भाजपा) तो उनके पास चेहरा है। लेकिन आपने अभी तय नहीं किया है, क्या केसीआर खुद नीतीश कुमार के नाम का प्रस्ताव पीएम कंडिडेट के लिए रखेंगे।

*नीतीश कुमार के नाम के प्रस्ताव पर बोले केसीआर* नीतीश कुमार के नाम के प्रस्ताव वाले सवाल पर केसीआर ने कहा कि ” भला मैं कौन होता हूं, अगर मैं कुछ कहूंगा तो कोई विरोध भी करेगा।” केसीआर ने कहा कि आप जल्दबाजी नहीं करें, हमें एकबार बैठने दें। उन्होंने कहा कि सभी विपक्षी पार्टियां आपस में इसपर विचार करेंगी। केसीआर ने कहा कि सभी विपक्षी दलों को एकजुट करने का प्रयास किया जाएगा।

*’इसके चक्कर में मत पड़िए’ कहकर उठ खड़े हुए नीतीश कुमार*
मालूम हो कि तेलंगाना के मुख्यमंत्री केसीआर व बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार संयुक्त रूप से प्रेस कांफ्रेंस कर रहे थे। इस दौरान बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव भी मौजूद थे। केसीआर लगातार भाजपा पर हमला बोल रहे थे। इसी दौरान मीडिया की ओर से आगामी लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री पद की उम्मीदवारी का मुद्दा उठा और जैसे ही मीडिया को संबोधित करने के क्रम में लोकसभा चुनाव 2024 में विपक्ष की ओर से प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार की बात हुई। मीडिया के बीच से ये सुर जैसे ही उठे, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार हंसते-मुस्कुराते उठ खड़े हुए और तेलंगाना सीएम केसीआर से आग्रह किया कि अब वो चलें। उन्होंने कहा कि – ”अब इनके चक्कर में मत पड़िये, और चलिये..”। लेकिन केसीआर जाने को तैयार नहीं हुए, वो मुस्कुराते हुए नीतीश कुमार का हाथ पकड़ लिये और उनसे रूकने को कहा।

*केसीआर ने दिया जवाब*
केसीआर ने मीडिया से कहा कि आने वाले समय में महागठबंधन की दलें एक साथ बैठेंगी और उसमें भाजपा के सभी विरोधी दलों को एकजुट करने का प्रयास किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सभी साथ बैठेंगे और इसमें जो बात निकलकर सामने आएगी वो हम आपको बताएंगे, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि इससे अच्छी कोइ बात नहीं हो सकती। वहीं, केसीआर ने कहा कि बिना ब्राह्मण भला कोई शादी होती है! बता दें कि भाजपा को अगले चुनाव में हराने की तैयारी में सभी जुटे हुए हैं।

1 Views