जनपथ न्यूज़ डेस्क

समस्तीपुर। शहर के बहादुरपुर वार्ड नंबर 27 (नया 15) निवासी नगर निगम कर्मी विष्णुदेव साह के पुत्र अभिषेक कुमार ने दारोगा बनकर परिवार और समाज का नाम रौशन किया है। बचपन से ही पढ़ाई में मेधावी रहने वाले अभिषेक ने माता अनिता देवी और पिता विष्णुदेव साह के सपनों को पूरा किया है। वर्ष 2013 में एसके हाईस्कूल, जितवारपुर से मैट्रिक और समस्तीपुर कॉलेज समस्तीपुर से 2018 में ग्रेजुएशन की परीक्षा पास किया। इसके बाद नौकरी के लिए कड़ी मेहनत की।
संघर्ष और गरीबी में दिखाई राह
अभिषेक बचपन से ही गरीबी और संघर्ष को नजदीक से देखा है। इसलिए इसी को अपना हथियार बनाकर लक्ष्य की ओर निरंतर आगे बढ़ता गया। हालांकि कई प्रतियोगी परीक्षा में असफल होने के बाद भी हिम्मत नहीं हारी और सफलता प्राप्त की।
कड़ी मेहनत, माता – पिता और गुरुजनों को दिया सफलता का श्रेय

अभिषेक कुमार ने सफलता का श्रेय कड़ी मेहनत, माता – पिता और गुरुजनों को दिया है। उसने बताया कि उनकी कड़ी मेहनत पर माता – पिता को पूरा भरोसा था। इसलिए वे अपनी सुख सुविधा का त्याग कर एक एक पैसा जोड़कर पढ़ाई और प्रतियोगी परीक्षा के लिए देते थे। माता पिता के इस त्याग और भरोसा के कारण उनकी मेहनत रंग लाई। उन्होंने कहा कि गुरुजनों ने भी सही रास्ता दिखाया जिस कारण उन्हें सफलता मिली।

सफलता के लिए शॉर्टकट नहीं अपनाएं : अभिषेक
अभिषेक ने प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने वाले छात्र छात्राओं को संदेश में कहा कि प्रतियोगी परीक्षा में लगन और कड़ी मेहनत का कोई जोर नहीं है। उन्होंने कहा कि शॉर्टकट का त्याग कर अपने लक्ष्य पर ध्यान केन्द्रित करें।

कानू हलवाई समाज का नाम किया रौशन : संजीव कानू
कानू हलवाई संघर्ष सेना फाउंडेशन के संस्थापक व राष्ट्रीय अध्यक्ष संजीव कानू और बिहार प्रदेश अध्यक्ष चंद्रभूषण कानू ने समस्तीपुर शहर के नगरनिगम कर्मी विष्णुदेव साह के पुत्र बनने पर हर्ष जताया है। संजीव कानू ने कहा कि कानू हलवाई समाज का बेटा भी अब किसी से कम नहीं है। उन्होंने ने कहा कि अभिषेक कुमार ने कानू हलवाई समाज का नाम रौशन किया है। वहीं प्रदेश अध्यक्ष चंद्रभूषण कानू ने कहा कि अभिषेक के दारोगा बनने पर समाज को एक नई दिशा मिलेगी।इससे समाज में जागरूकता आएगी। उन्होंने कहा कि बहुत जल्द ही संस्था के बैनर तले अभिषेक को दारोगा बनने पर सम्मानित किया जाएगा।

2 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published.