जितेन्द्र कुमार सिन्हा, पटना (दिल्ली) 21 अगस्त ::

जद(यू) के राष्ट्रीय सचिव राजीव रंजन प्रसाद ने बिहार में शराब बंदी को लेकर हमलावर भाजपा नेताओं को अपने गिरेबान में झाँकने की चुनौती देते हुए कहा की उनके आदर्श गुजरात मॉडल में हर मिनट 11 शराब की बोतलें जब्त की जा रहीं हैं .पिछले एक वर्ष में 215 करोड़ रूपए से ज्यादा की विदेशी शराब पकड़ी गई है, वहीँ गुजरात की शराबबंदी कानून में दी गयी कई रियायतों के बावजूद लोग जहरीली शराब पीकर मौत के शिकार हुए हैं।

उन्होंने कहा की मादक पदार्थों का अभयारण्य बने गुजरात में पिछले एक वर्ष में एक ही बंदरगाह मुंद्रा पोर्ट से तीन किश्तों में अर्थात सितम्बर 2021 को 300 kg (मूल्य 21 हज़ार करोड़ रूपए) ड्रग्स, 22 मई 2022 को 56 kg (मूल्य 500करोड़ रूपए) ड्रग्स एवं जुलाई 22 को 75 kg ( मूल्य 375 करोड़ रूपए) नशीली दवाएं की बरामदगी हुई ।

श्री प्रसाद ने पूछा है कि शराब एवं ड्रग्स माफिया पर कठोर कार्रवाई से कौन रोक रहा है, इसका जबाब बीजेपी नेताओं को देना चाहिए, क्योकि बरामदगी के भयावह आंकड़े बताते हैं कि गुजरात मादक पदार्थों की जकड में आ चूका है और नौजवान इसके शिकार हो रहे हैं। यहाँ तक कि एक चर्चित अभिनेता की गुजरात में शराब एवं ड्रग्स के कारोबार के बल पर स्थापित समानांतर अर्थ व्यवस्था पर बनी फिल्म ने खूब सुर्खियां बटोरी हैं।

उन्होंने भाजपा और शराब के गहरे रिश्तों पर प्रहार करते हुए कहा है कि उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश एवं कर्णाटक की सरकारें शराब के मद में सर्वाधिक राजस्व की उगाही कर उन राज्यों की जनता के हलक से निवाले छीन रही हैं।
———

1 Views