नीतीश कुमार पर लालू प्रसाद की बेटी रोहिणी आचार्या का हमला

एमएलए की करतूत पर मुंह में दही जमा लेते हो’, जमीन विवाद पर भी बोली रोहिणी आचार्या

Edited By: राकेश कुमार
जनपथ न्यूज
सितम्बर 5, 2021

पटना: बिहार में राजद और जदयू के बीच पार्टी कार्यालय के जमीन को लेकर जारी विवाद में आज लालू प्रसाद की बेटी रोहिणी आचार्या की भी एंट्री हो गयी। गोपाल मंडल के बहाने रोहिणी ने नीतीश कुमार पर हमला बोल दिया। उन्होंने ट्वीट किया कि आसमान से जमीन लाने की बात करते हो।अपने विधायक के शर्मनाक करतूत पे मुंह में दही जमा लेते हो।
लालू प्रसाद की बेटी ने एक के बाद एक ट्वीट कर नीतीश कुमार को निशाने पर लिया। एक मीडिया रिपोर्ट को शेयर करते हुए उन्होंने लिखा कि आसमान से लाएं जमीनवा अरे चचा नहीं-नहीं अर्चना उपासना एक्सप्रेस पे लाद कर लाएं जमीनवा। उन्होंने जमीन को लेकर कहा कि क्या अर्चना उपासना एक्सप्रेस से जमीन लादकर लाए हो तीन नम्बरी पार्टी होकर भी सबसे ज्यादा जमीन पाए हो। गौरतलब है कि राजद की तरफ से आरोप लगाया गया है कि राज्य की सबसे बड़ी पार्टी होने के बाद भी उसे बीजेपी और जदयू से कम जमीन, पार्टी कार्यालय के लिए दिया गया है।
पिछले दिनों राजद ने बिहार सरकार को पत्र लिखकर दफ्तर के विस्तार के लिए ज्यादा जमीन की मांग की थी। इसी मुद्दे पर जब पत्रकारों ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से सवाल पूछा था तो उन्होंने गुस्से में जवाब देते हुए कहा था कि आसमान से लाएंगे जमीनमा का। साथ ही जब उनसे अंडरव‍ियर पहन ट्रेन में घूमने वाले जदयू विधायक गोपाल मंडल के बारे में सवाल पूछा गया तो वे बिना जवाब दिए हुए ही निकल गए थे।
नीतीश कुमार ने कहा था कि सबको पार्टी कार्यालय के लिए जमीन मिला हुआ है। वो क्या बोलते हैं ये वो ही जानें। आज तक सभी पार्टियों को जमीन दिया गया, 2006 के बाद जो इंतजाम किया गया वो सबको मालूम है। उन्होंने तो किसी भी पार्टी को जमीन नहीं दी। ये जमीन हमने ही दी है जो उन्होंने पसंद की थी, अब क्या जमीनवा आसमान से लाया जाएगा।

आगे नीतीश कुमार गुस्सा होकर कहने लगे थे कि ये सब कोई बोले तो पूछ लिया करिए। इसके बाद जब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से तेजस ट्रेन में अंडरवियर पहनकर घूमने वाले जदयू विधायक गोपाल मंडल को लेकर सवाल पूछा गया तो वे बिना जवाब दिए हुए ही निकल गए। पत्रकार सवाल पूछते रहे लेकिन वे अपनी गाड़ी में बैठकर निकल गए।

2 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published.