जनपथ न्यूज डेस्क, पटना
Edited by: राकेश कुमार
9 जुलाई 2022

अवैध बालू खनन के लिए कुख्यात सोन नदी के तटवर्तीय क्षेत्र में भोजपुर पुलिस, भोजपुर की स्पेशल टास्क फोर्स और पटना जिले के बिहटा थाने की पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है। शुक्रवार को भोजपुर डीएम राजकुमार और एसटीएफ के रामाकांत के नेतृत्व में काफी संख्या में सशस्त्र पुलिस-बलों ने सुरौंधा टापू और पथलौटिया गांव को घेर लिया।इस दौरान 87 पोकलेन मशीन जब्त की गई। इन गाड़ियों की अनुमानित कीमत करीब 43 करोड़ आंकी गई है। बालू खनन के इतिहास में पहली बार इतने बड़े पैमाने पर पोकलेन मशीनों की बरामदगी हुई है।

इस छापेमारी में सहायक खनन निदेशक आनंद प्रकाश कोईलवर और बिहटा के बीडीओ-सीओ, बड़हरा, कोईलवर और बिहटा थाने की पुलिस भी मौजूद थी।

अचानक सुरौंधा टापू पर भारी संख्या में सशस्त्र पुलिस बल के पहुंचते ही बालू तस्कर और पोकलेन मशीन ऑपरेटर भागने लगे। पुलिस ने इस दुर्गम व दियारा क्षेत्र में कई किलोमीटर के क्षेत्र में छिपाकर रखे गए पोकलेन मशीन को जब्त करना शुरू किया। पुलिस जैसे-जैसे आगे बढ़ती गयी, बालू के बंकरनुमा टीमों, नहरनुमा जलाशयों, खेतों और बगीचों में खड़ी की गई पोकलेन गाड़ी मिलती गईं। चार पोकलेन गाड़ियां भोजपुर जिले के कोईलवर थाना और 83 अधिक बिहटा थाना के पथलौटिया गांव में बरामद हुई।

पुलिस के अनुसार पथलौटिया गांव अवैध बालू खनन करने वाले का सोन नद क्षेत्र में सबसे बड़ा कुख्यात अड्डा है। यहां बड़ी संख्या में पोकलेन गाड़ी रखी जाती हैं। शाम होने के बाद बालू माफिया के संरक्षण में 100 से अधिक पोकलेन मशीन के ऑपरेटर भोजपुर की सीमा में और सुरौंधा टापू पर आकर अवैध बालू खनन करने लगते हैं।

3 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published.