जनपथ न्यूज डेस्क/पटना

01 अगस्त 2022

पटना: मुख्य सचिवालय स्थित कार्यालय कक्ष में भारतीय विदेश सेवा के अधिकारी श्री सुभाष प्रसाद गुप्ता और श्री प्रसन्ना श्रीवास्तव ने बिहार के उपमुख्यमंत्री श्री तारकिशोर प्रसाद से शिष्टाचार मुलाकात की।
मुलाकात के क्रम में अधिकारियों ने बिहार में आर्थिक, व्यापारिक एवं वाणिज्यिक गतिविधियों के विषय में जानकारी ली।

उपमुख्यमंत्री ने बताया कि बिहार सरकार ने आत्मनिर्भर बिहार सात निश्चय पार्ट-2 के अंतर्गत कई महत्वाकांक्षी योजनाओं को शुरू किया है। राज्य में उद्योग, व्यापार और वाणिज्यिक गतिविधियों में सुगमता के दृष्टिकोण से कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए हैं। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार ने औद्योगिक निवेश प्रोत्साहन नीति को लागू किया है तथा एथेनॉल उत्पादन प्रोत्साहन नीति, वस्त्र एवं चर्म उद्योग नीति को भी लागू किया है, ताकि बिहार में व्यापारिक एवं वाणिज्यिक गतिविधियां सुचारू रूप से संचालित हो सके। उन्होंने कहा कि बिहार औद्योगिक निवेश के बेहतर डेस्टिनेशन के रूप में तेजी से उभर रहा है। राज्य सरकार इस दिशा में तत्परता के साथ काम कर रही है।

उन्होंने बताया कि वाणिज्य- कर विभाग ने कर संग्रहण में वर्ष 2021-22 में 35846 करोड़ रुपए का अभूतपूर्व राजस्व संग्रहण किया है। करदाताओं के पुराने बकाया के निपटान हेतु ओ.टी.एस. स्कीम के माध्यम से सहूलियतें दी गयी हैं तथा इसे विस्तारित भी किया गया, जिसके अच्छे परिणाम मिले हैं। सरकार के ऐसे सकारात्मक प्रयासों से विपरीत परिस्थितियों के बावजूद कर-संग्रहण के निर्धारित लक्ष्य को प्राप्त करने में बिहार सफल रहा है।

गौरतलब है कि मध्य सेवाकालीन प्रशिक्षण कार्यक्रम के तहत भारतीय विदेश सेवा के अधिकारी बिहार भ्रमण पर हैं। शिष्टाचार मुलाकात करने वाले भारतीय विदेश सेवा के अधिकारी में वियतनाम स्थित भारतीय दूतावास के डिप्टी चीफ ऑफ मिशन श्री सुभाष प्रसाद गुप्ता और नेपाल स्थित भारतीय दूतावास में काउंसलर श्री प्रसन्ना श्रीवास्तव शामिल थे।

12 Views