*2025 में बिहार से लालू-नीतीश का होगा सूपड़ा साफ, पूर्ण बहुमत में भाजपा की बनेगी सरकार*

जनपथ न्यूज डेस्क
Reported by: गौतम सुमन गर्जना, भागलपुर
Edited by: राकेश कुमार
24 सितंबर 2022

भागलपुर/पुर्णियां :केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह शुक्रवार को पूर्णिया पहुंचे। पूर्णिया पहुंचने के बाद स्थानीय भाजपा नेताओं ने अमित शाह को मखाने की माला पहनाई। जब श्री शाह मंच पर पहुंचे तो पारंपरिक वाद्ययंत्र सिंघा फूंककर उनका स्वागत किया गया। इस दरमियान अमित साहब जिंदाबाद और नरेंद्र मोदी जिंदाबाद के खूब नारे लगे।
अमित शाह ने पुर्णियां के ऐतिहासिक रंगभूमि मैदान में भाजपा की ओर से आयोजित जनभावना रैली को भारत माता की जय के साथ अपना संबोधन शुरू किया। तत्पश्चात, श्री शाह ने राष्ट्रकवि रामधारी सिंह दिनकर की जयंती पर उन्हें नमन किया और कहा कि दिनकर की कविताओं ने न केवल आजादी के आंदोलन को धार दी, बल्कि भारतीय संस्कृति को भी मजबूती प्रदान करने का काम किया. उन्होंने कबीरपंथी धर्मगुरु सद्गुरु धर्मस्वरूप को श्रद्धांजलि दी और मां पूरण देवी को नमन किया और कहा कि उनके सीमांचल में आने से लालू प्रसाद यादव और नीतीश कुमार के पेट में दर्द हो रहा है. उन्होंने 2024 के लोकसभा चुनाव में महागठबंधन का सूपड़ा साफ होने का ऐलान करते हुए कहा कि 2025 के चुनाव में भी भाजपा बिहार में पूर्ण बहुमत वाली सरकार बनाएगी। गौरतलब है कि श्री शाह बिहार के सीमांचल क्षेत्र में दो दिवसीय दौरे पर आए हुए हैं। इस दौरान पूर्णिया में रैली को संबोधित करने के बाद वे शाम में किशनगंज में भाजपा कोर कमेटी की बैठक में हिस्सा लेंगे, जिसमें सीमांचल के नेतागण भी मौजूद रहेंगे। बिहार में सत्ता परिवर्तन के बाद पहली बार भाजपा का बड़ा कार्यक्रम होने जा रहा है। अमित शाह सीमांचल की धरती से लोकसभा चुनाव 2024 का शंखनाद करने आए हैं। अमित शाह के दौरे से स्थानीय कार्यकर्ताओं में खासा उत्साह देखा गया। पूर्णिया में डेढ़ से दो लाख कार्यकर्ताओं को बसों-ऑटो और कारों में भरकर लाया गया है। इस दरमियान सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए। रैली के लिए पूर्णिया के रंगभूमि मैदान को बड़े ही सुसज्जित तरीके से सजाया गया है।

*पैसा अब डायरेक्ट खाते में आता है, लालू के बिचौलियों के पास नहीं जाता*
अमित शाह ने पूर्णिया में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि मोदी सरकार गरीबों की सरकार है। उन्होंने हर घर में शौचालय पहुंचाने का काम किया। वैश्विक महामारी कोरोना टीके लगाने के बाद दो साल तक प्रति व्यक्ति पांच किलो राशन मुफ्त देने का काम किया। सरकारी योजना का पैसा अब डायरेक्ट लोगों के खाते में आता है, लालू के बिचौलियों को खाने के लिए नहीं मिलता। बिहार के सभी शहरों में मोदी सरकार ने बिजली पहुंचाई।

*बिहार को सबसे विकसित राज्य बनाएंगे*
अमित शाह ने कहा कि जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाई, ये फैसला सही है। क्या लालू प्रसाद यादव और नीतीश कुमार इसका समर्थन करेंगे? उनमें हिम्मत नहीं है। भारत की सुरक्षा को लेकर मोदी सरकार ने जो कदम उठाए, लालू उसे मानते नहीं हैं। लालू राज में फिरौती मांगी जाती थी, हत्याएं होती थीं। गांधी मैदान में लालू-नीतीश दोनों लट्ठ रैली निकालेंगे और लालू नीतीश के कंधे पर रहेंगे। उन्होंने कहा कि बस एक बार भाजपा को पूर्ण बहुमत दे दीजिए, हम बिहार को देश का सबसे विकसित राज्य बना देंगे।

*1.35 लाख करोड़ खर्च का हिसाब देकर अमित शाह ने नीतीश से कहा- अब अपने काम गिनाओ*
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मोदी सरकार के 1.35 लाख करोड़ रुपये के काम गिनाकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से उनका हिसाब मांगा। श्री शाह ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी ने 1.25 लाख करोड़ रुपये बिहार में खर्च करने का वादा किया था, उसके मुकाबले 1.35 लाख करोड़ रुपये खर्च हुए हैं। अब सीएम नीतीश बताएं कि उन्होंने लालू प्रसाद के साथ मिलकर कुर्सी बचाने के अलावा क्या काम किया है।

*मोदी सरकार ने बिहार को वामपंथी उग्रवाद से मुक्त कराया*
बिहार को तीन साल के भीतर वामपंथी उग्रवाद को मुक्त कराया, चक्रबंधा और भीमबंधा से नक्सलवाद खत्म हो गया। कभी वामपंथी उग्रवाद के प्रभाव में रहने वाला बिहार अब इससे मुक्त हो चुका है।

*नीतीश के लालू के साथ जाते ही अपराध बढ़ गए*
अमित शाह ने कहा कि जिस दिन नीतीश कुमार ने महागठबंधन के मुखिया के तौर पर शपथ ली, तब से ही कानून व्यवस्था की स्थिति चरमरा गई। नीतीश कुमार षडयंत्र करने वालों को नहीं रोक पाएंगे, क्योंकि अपराधी सत्ता में ही बैठे हैं। चारा घोटाले की जो धुन लगाते थे, अब क्या करेंगे? अब तो आपके यहां घोटालेबाज मंत्री बन गए। मंत्री बनते ही लालू के दबाव में नीतीश सीबीआई को बैन लगाने के लिए कह रहे हैं। लालू के भय और सत्ता के मोह से अब नीतीश कुमार सीबीआई के खिलाफ जा रहे हैं। पूरे बिहार पर जंगलराज का खतरा मंडरा रहा है। उन्होंने कहा कि 2024 के लोकसभा चुनाव में लालू-नीतीश का जनता सूपड़ा साफ कर देगी। इसके साथ ही 2025 के विधानसभा चुनाव में बिहार में भाजपा की पूर्ण बहुमत की सरकार बनने जा रही है। नीतीश कुमार को बस कुर्सी प्यारी है, तभी तो वे वो किसी भी पार्टी से गठबंधन कर लेते हैं।

*लालू-नीतीश से डरना मत, ऊपर मोदी सरकार है*
श्री शाह ने सीमांचल की जनता से साफ तौर पर कहा कि सीमावर्ती जिलों में कोई डरिएगा नहीं, बिहार में लालू-नीतीश की जोड़ी भले ही आ गई है लेकिन अभी भी ऊपर नरेंद्र मोदी की ही सरकार है। किसी की हिम्मत नहीं है,जो उनके रहते कोई किसी को डरा सके।

*नीतीश ने जॉर्ज फर्नांडिस व मांझी को भी धोखा दिया*
श्री शाह ने नीतीश कुमार को धोखेबाज बताते हुए कहा कि वे सबसे पहले देवी लाल गुट के साथ गए, फिर लालू के साथ कपट किया, सबसे बड़ा धोखा जॉर्ज फर्नांडीस को दिया, जॉर्ज के कंधे पर बैठकर समता पार्टी बनाई, जॉर्ज की तबीयत खराब हुई तो हटा दिया, शरद यादव को धोखा दिया, फिर भाजपा को पहली बार धोखा दिया, फिर जीतनराम मांझी को धोखा दिया, रामविलास पासवान को धोखा दिया, फिर से भाजपा को प्रधानमंत्री बनने की लालसा में धोखा देकर लालू के साथ चले गए हैं। उन्होंने कहा कि सत्ता सुख पाने के लिए वह कभी भी और किसी को भी धोखा दे सकते हैं।

*नीतीश पीएम बन सकते हैं क्या*
प्रधानमंत्री बनने के लिए नीतीश बाबू, जो कांग्रेस विरोधी राजनीति से पैदा हुए, वो नीतीश बाबू आरजेडी और कांग्रेस की गोद में बैठ गए हैं। उन्होंने सवालिया लहजे में पुछा है कि इस तरह सत्ता के स्वार्थ में दल-बदल करके नीतीश बाबू प्रधानमंत्री बन सकते हैं क्या, बिहार में सरकार चल सकती है क्या? लालू जी सुनिए, नीतीश कल आपको फिर धोखा दे देंगे,यह तय है।

इससे पहले बिहार भाजपा के अध्यक्ष संजय जायसवाल ने अपने संबोधन में कहा कि किशनगंज में थानाध्यक्ष की बांग्लादेशी मुसलमान हत्या करते हैं और नीतीश कुमार को कहते हैं तो उन्हें बुरा लगता है। इसलिए नीतीश ऐसे गठबंधन में गए, जहां कोई अपराध के बारे में नहीं पूछेगा। उन्होंने कहा कि नीतीश जी भले ही आश्रम जाएं लेकिन, बिहार को अनाथालाय हरगिज नहीं बनने देंगे। उन्होंने कहा कि 2024 में सीमांचल की सभी लोकसभा की सीटें भाजपा जीतेगी और 2025 में बिहार में भाजपा का मुख्यमंत्री बनेगा।
वहीं बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि सीमांचल क्षेत्र में 50 सालों से हिंदुओं की जनसंख्या कम होती गई। पूर्णिया में पहले मुस्लिम 30 फीसदी थे, जो अब बढ़कर 45 फीसदी हो गए हैं। कटिहार में भी मुस्लिमों की जनसंख्या बढ़ोतरी दर 10 फीसदी, किशनगंज में 14 फीसदी है। एक वर्ग विशेष की आबादी इस तरह से बढ़ रही है, वो दिन दूर नहीं जब सीमांचल के चारों जिले मुस्लिम बहुसंख्यक बन जाएंगे।

वहीं इस मौके पर बिहार भाजपा प्रभारी विनोद तावड़े, पूर्व मंत्री शाहनवाज हुसैन, पूर्व उपमुख्यमंत्री रेणु देवी, पूर्व विस अध्यक्ष विजय सिन्हा,मंत्री प्रेम कुमार, राधा मोहन सिंह गिरिराज सिंह. नंदकिशोर यादव, रामकृपाल यादव, मंगल पांडेय समेत भाजपा के कई वरिष्ठ नेताओं ने भी जनसभा को संबोधित किया।

वहीं केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के संबोधन को सुनने के लिए लाखों की भीड़ जहां घंटों रंगभूमि मैदान में डटे रहे, वही पूर्णिया का रंगभूमि मैदान भगवा रंग में रंगा हुआ नजर आया. चौंकाने वाली बात इस सभा में यह रही कि लाखों की भीड़ में कई जदयू के चेहरे भी नजर आए, जिनसे पूछने पर पता लगा कि भाजपा की रैली में उन्हें भी विशेष तौर पर आमंत्रित किया गया है। पूर्णिया में रैली को संबोधित करने के बाद केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह एयरपोर्ट के लिए रवाना हो गए.यहां से वे हेलिकॉप्टर पर सवार होकर किशनगंज के लिए रवाना हो गए।

 81 total views,  3 views today