न्यूज डेस्क, पटना
जनपथ न्यूज
Edited by: राकेश कुमार
मई 12, 2022
पटना: बिहार की राजधानी पटना के नया सचिवालय के पास स्थित विश्वेश्वरैया बिल्डिंग में बुधवार की सुबह लगी आग ने अब राजनीतिक तूल पकड़ लिया है। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के बड़े बेटे और हसनपुर से विधायक तेज प्रताप यादव ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि घोटाले की फाइल को दबाने के लिए यह आग लगा दी गई है। आग लगी नहीं है, बल्कि लगाई गई है। तेज प्रताप यादव ने कहा कि अगलगी की इस घटना की उच्च स्तरीय जांच हो। तेजप्रताप ने मौके पर घटना स्थल का मुआयना करने के बाद यह बातें कही।
आपको बता दे कि राजधानी पटना में नया सचिवालय के पास स्थित विश्‍वेश्‍वरैया भवन में बुधवार की सुबह अचानक भीषण आग लग गई। यह बेली रोड पर स्थित सरकारी बिल्डिंग है जिसमें कई विभाग के कार्यालय हैं। बता दे कि विश्‍वेश्‍वरैया भवन में विभाग के मंत्री से लेकर सचिव तक बैठते हैं।
सुबह करीब 6 बजे के आसपास वहां एटीएम में काम करने वाला एक गार्ड पहुंचा तो उस समय सब ठीक था। गार्ड ने 7.45 के करीब देखा कि पांचवीं मंजिल से धुआं निकल रहा है। धुआं निकलते देख गार्ड ने गेट पर जाकर इसके बारे में बताया और बताने के बाद फायर ब्रिगेड की गाड़ी आई।
बता दे कि विश्‍वेश्‍वरैया भवन में बिहार सरकार के तमाम इंजीनियरिंग विभागों का कार्यालय है। आग तीसरी मंजिल से पांचवीं मंजिल तक लगी। बताया जा रहा है कि शॉर्ट सर्किट से आग लगी होगी। घटना के बाद भवन में काम कर रहे हैं सफाईकर्मी और मजदूर के बीच अफरा-तफरी की स्थिति बनी रही।

2 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published.