जनपथ न्यूज डेस्क, पटना
Edited by: राकेश कुमार
26 जून 2022

पटना : बिहार की राजधानी पटना में तीन दिवसीय आम महोत्सव की शुरुआत हुई है। इस आयोजन में कई तरह के आमों को रखा गया है। बता दें कि कोरोना वायरस के चलते पिछले दो वर्षों से मैंगो फेस्टिवल का आयोजन नहीं हो सका था। लेकिन इस बार इसका आयोजन किया गया है। इस महोत्सव का उद्घाटन कृषि मंत्री अमरेंद्र प्रताप सिंह ने की है। इस आयोजन का मुख्य उद्देश्य राज्य में आम की खेती, गुणवत्तायुक्त आम के उत्पादन को बढ़ावा देना, आम की नई किस्मों और तकनीकों से बागवानों को अवगत कराने के साथ-साथ आम के निर्यात तथा मूल्य संवर्धन के बारे में बागवानों एवं आमजनों को जानकारी देना है और आयोजन का मुख्य उद्देश्य राज्य में आम की गुणवत्तायुक्त खेती को बढ़ावा देना है।

राज्य कृषि मंत्री अमरेंद्र प्रताप सिंह ने बताया, “हमने सिंचाई की व्यवस्था की है, 90-100% तक सिंचाई के लिए बोरिंग की व्यवस्था करवा रहें। हम लोग आम का निर्यात करने लगे हैं पिछले बार से इस बार आम का निर्यात ज़्यादा हुआ है।”

उन्होंने कहा कि आम महोत्सव, 2022 में राज्य के विभिन्न जिलों के कृषकों एवं उद्यमियों के द्वारा आम एवं इसके उत्पाद के करीब 2,558 प्रदर्शाें के साथ भाग लिया गया है। पटना, भागलपुर, मुंगेर, सीतामढ़ी, वैशाली, समस्तीपुर, कटिहार, पूर्वी चम्पारण, पश्चिमी चम्पारण, रोहतास, सारण, शेखपुरा, शिवहर, सिवान, सुपौल, दरभंगा, बेगूसराय, अरवल, अररिया, मधेपुरा, मुजफ्फरपुर, नालन्दा, पूर्णिया आदि जिलों से अधिक-से-अधिक प्रदर्शाें का निबंधन हुआ है। इस प्रदर्शनी में बिहार कृषि विश्वविद्यालय, सबौर, डाॅ॰ राजेन्द्र प्रसाद केन्द्रीय कृषि विश्वविद्यालय, पूसा, समस्तीपुर, भारतीय बागवानी अनुसंधान संस्थान, बैंगलोर के द्वारा विभिन्न प्रजाति के आमों के प्रभेदों का प्रदर्शन किया जा रहा है। इस आम महोत्सव में बिहार के अधिकांश जिलों के आम के विभिन्न-विभिन्न प्रकार के प्रभदों का प्रदर्शन किया गया है लेकिन राज्य में आम के और भी स्वादिष्ट आम के प्रभेद किसानों द्वारा उपजाया जाता है। इस तरह के आयोजन से और भी किसान प्रोत्साहित होगे और अपने प्रादर्शों के साथ आगामी आयोजन में भाग लेगें।

Pictures by ANI

4 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published.