जनपथ न्यूज डेस्क
Reported by: गौतम सुमन गर्जना
Edited by: राकेश कुमार
30 दिसंबर 2022

1872 से खानकाह-ए-पीर दमड़िया गरीबों और असहाय की कर रहा है सेवा

भागलपुर : वक्फ सैयद शाह एनायत हुसैन 159 शाह मार्केट व खानकाह-ए-पीर दमड़िया शाह के सज्जादानशीं द्वारा 1872 से समाज तथा खिदमत-ए-खलक का काम अंजाम देता आ रहा है। इसी क्रम को जारी रखते हुए दिसंबर 2018 से वक्फ 159 द्वारा भागलपुर में रोटी बैंक का आगाज किया गया था, जिसमें अल्लाह के फजल-व-करम से आज तक रोजाना स्टेशन परिसर में असहाय एवं यात्रियों के बीच 100 लोगों को मुफ्त भोजन दिया जाता है। गौरतलब है कि विगत पांच वर्षो से रोटी बैंक नियमित रूप से चल रहा है, जिससे लाभान्वित होकर गरीब-लाचार व भुखे लोग ऊपरवाले सहित वक्फ सैयद शाह एनायत हुसैन 159 शाह मार्केट व खानकाह-ए-पीर दमड़िया शाह का शुक्र अदा कर रहे हैं।

इस बावत गुरुवार को खानकाह-ए-पीर दमड़िया शाह के 15वें सज्जादानशीं सैयद शाह फखरे आलम हसन ने कहा कि वक्फ 159 की हमेशा यह कोशिश रहती है कि जरूरत मंदों की हर संभव मदद करते हुए समाज को जोड़ने तथा उसे लाभ पहुंचाने का काम किया जाता रहे। उन्होंने कहा कि पिछले दिनों वक्फ 159 द्वारा सैकड़ों लोगों के बीच कंबल का वितरण किया गया और आगे भी शहर के चौक-चौराहों पर अलाव जलाकर राहगीरों को राहत पहुंचाने का काम किया जाएगा।

सैयद हसन ने ठंड का एहसास करते हुए कहा कि ठंड क्या होती है, ये कोई उनसे पूछे जो सर्द रातों में खुले आसमान के नीचे किसी तरह अपने बदन को सिकोड़कर रात गुजारने को मजबूर होते हैं। ऐसी स्थिति में यदि ऐसे मजलूम लोगों को कोई भी गर्म कपड़े मिल जाए तो उनके मुंह से दुआओं की बारिश होना लाजिमी है। उन्होंने कहा कि जनसेवा से बड़ा कोई धर्म या मजहब नहीं होता। कड़ाके की ठंड में जहां हम उन्हें गर्म कपड़े देकर ठंड से राहत दिलाने का प्रयास करते हैं, वहीं इन लाभार्थियों के आशीर्वाद और दुआओं की गर्मी से हम भी सुरक्षित रहते हैं। उन्होंने कहा कि वक्फ सैयद शाह एनायत हुसैन 159 और खानकाह-ए-पीर शाह दमड़िया के लोगों का संस्कार ही सेवा और गरीब व जरुरतमंदों की मदद करना है। शायद यही कारण है कि गरीब-मजलूमों के दर्द व पीड़े के वक्त हम सदैव मुश्तैद होकर खड़े रहते हैं।

 153 total views,  3 views today