जनपथ न्यूज़  भागलपुर. जमीन विवाद में सोमवार देर रात अपराधियों ने सोए अवस्था में दंपति पर हमला कर लहुलुहान कर दिया। इसमें महिला की इलाज के दौरान मौत हो गई, जबकि उसके पति की हालत गंभीर है। जूली देवी (30 वर्ष) और पति अनिल मंडल (50 वर्ष) सड़क किनारे झोपड़ी में सत्तू की दुकान चलाते हैं। अपराधी झोपड़ी में सोए दंपति पर किसी कड़े और भोंथरे वस्तु से हमला कर फरार हो गए। जख्मी पति ने हो-हल्ला किया तो आसपास के ग्रामीण जुटे। दोनों को इलाज के लिए मायागंज अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां सुबह सवा चार बजे जूली देवी की मौत हो गई। डॉक्टरों ने अनिल मंडल की हालत भी गंभीर बताई है।
उनके सिर और चेहरे पर गहरे जख्म हैं। वह कुछ बोल नहीं पा रहे हैं और इशारों में बात कर रहे हैं। इस मामले में पुलिस ने मुख्य आरोपी कैलाश मंडल (छोटी बादरपुर) को गिरफ्तार किया है। अनिल मंडल का कैलाश से जमीन को लेकर विवाद चल रहा है। कैलाश ने अनिल की हत्या की धमकी भी दी थी। इस मामले में हबीबपुर थाने में कैलाश मंडल और उनके दोनों बेटे श्याम मंडल और नीतू मंडल के खिलाफ जूली की सौतन सरिता देवी ने केस दर्ज कराया है।
3 साल से चल रहा है विवाद दीवार भी खड़ी कर दी है
सरिता देवी ने बताया कि उनके पति अनिल मंडल की दो शादी है। वह अपने बच्चों को लेकर गांव छोटी बादरपुर में रहती है, जबकि पति अनिल मंडल जूली देवी और बच्चों को लेकर दाऊदबाट के लाजपत नगर में घर बना कर रहते हैं। सरिता के मुताबिक, छोटी बादरपुर में पड़ोस के कैलाश मंडल से उनका जमीन को लेकर विवाद चल रहा है। एक कट्टा जमीन पर कैलाश ने कब्जा कर दीवार खड़ी कर दी है। तीन साल से यह विवाद चल रहा है। इस विवाद में मेरे पति को जान मारने की कैलाश ने धमकी भी थी। आरोप है कि सोमवार रात को कैलाश और उनके दोनों बेटे लाजपत नगर स्थित घर पर गए और मेरे पति, सौतन पर मार कर बुरी तरह से जख्मी कर दिया।
कातिल कौन, चश्मदीद 3 बच्चों को पता है, लेकिन भयवश नहीं बता रहे
जुली देवी की हत्या और उसके पति अनिल मंडल पर कातिलाना हमले के चश्मदीद उनके छोटे-छोटे बच्चे हैं। अनिल की पहली पत्नी सरिता के मुताबिक, उसका बेटा अमरेश भी जूली के ही साथ रहता है। वारदात वाली रात झोपड़ी में मेरे पति अनिल मंडल, सौतन जूली देवी, उसकी दोनों बेटियां आंचल, अमृता और मेरे बेटा अमरेश सोया हुआ था। इसी दौरान हमला हुआ। तीनों बच्चे के सामने अनिल और जूली पर हमला किया गया। भय से बच्चे भी कुछ नहीं बोल रहे हैं। हालांकि, हत्यारों ने बच्चों को कोई नुकसान नहीं पहुंचाया। झोपड़ी के फर्श पर जगह-जगह खून के निशान हैं। पति और दोनों बच्चे जूली की हत्या के चश्मदीद हैं।
घटना की जांच को पहुंचे सिटी एसपी और डीएसपी
सुबह में घटना की जांच में सिटी एसपी सुशांत कुमार सरोज, प्रभारी सिटी डीएसपी आरके झा मौके पर पहुंच मामले की जांच की। एसएसपी ने एफएसएल टीम बुलाकर घटना की जांच कराने का निर्देश थानेदार को दिया। पुलिस की जांच में घटनास्थल से कोई हथियार बरामद नहीं हुआ। ऐसी आशंका है कि ईंट से दंपत्ति पर हमला किया गया है। उधर, दोनों अधिकारी मायागंज अस्पताल पहुंच परिजनों से मामले की जानकारी ली।
बेटे के लिए अनिल मंडल ने की है दो शादी
अनिल मंडल ने बेटे की चाहत के लिए दो शादी है। 25 साल पहले उसकी शादी सरिता देवी से हुई थी। सरिता से बेटी कंचन और बेटा अमरेश है। कंचन की उम्र करीब 22 साल के आसपास है और उसकी शादी कंझिया में हुई है। जबकि उसके छोटे भाई की उम्र चार साल के आसपास है। सरिता से जब काफी दिनों तक बेटा पैदा नहीं हुआ तो अनिल ने 2015 में जूली से दूसरी शादी की। इस बीच सरिता ने एक बेटे को जन्म दे दिया। हालांकि जूली से दो बेटियां ही पैदा हुई, जिसमें एक तीन साल की है और दूसरी दो साल की। अनिल गांव छोड़ कर दूसरी पत्नी के साथ रहते थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.