जनपथ न्यूज डेस्क

Reported by: गौतम सुमन गर्जना, भागलपुर
Edited by: राकेश कुमार
18 अगस्त 2022

भागलपुर : जिले के सुल्तानगंज में मगरमच्छ से फिर एकबार हड़कंप मचा हुआ है। अजगैवीनाथ मंदिर के पास पिछले दिनों एक मगरमच्छ देखा गया तो श्रावणी मेला के दौरान श्रद्धालुओं में हड़कंप मचा हुआ था और तब मगरमच्छ को पकड़ने में वन विभाग असफल रहे थे। लेकिन अब मगरमच्छ अपना शिकार खोजने नदी से बाहर निकलने लगा है। गुरुवार के दिन मगरमच्छ को बाहर देख ग्रामीणों में अफरातफरी मच गई। किसी तरह फिलहाल मगरमच्छ को वापस पानी में भगा दिया गया।

*श्रावणी मेला के दौरान दिखा था मगरमच्छ*
विदित हो कि सुल्तानगंज में श्रावणी मेला के दौरान एक मगरमच्छ को घाट के नजदीक देखा गया था। श्रद्धालुओं को तब सतर्क कर दिया गया था और लगातार माइकिंग के जरिये श्रद्धालुओं को सावधान किया जा रहा था। तमाम प्रयास के बाद भी वन विभाग मगरमच्छ को नहीं पकड़ पाया था। अब जब श्रावणी मेला खत्म हो गया है तब श्रद्धालुओं की संख्या घाट पर जरुर घटी है लेकिन यहां गंगा में रोजाना लोग स्नान करते हैं और उनके लिए मगरमच्छ बड़ा खतरा बना हुआ है।

*शिकार खोजने गंगा से निकला बाहर*
मिली जानकारी के अनुसार, बुधवार को भी मगरमच्छ अपने पुराने जगह से थोड़ी दूर जाकर जहांगीरा गांव के सहनी टोला के नदी से बाहर निकल आया था। अचानक ग्रामीणों की नजर जब मरगमच्छ पर पड़ी तो वहां अफरा-तफरी मच गई। लोगों ने घबराकर मगरमच्छ पर ईंट-पत्थर फेंकना शुरू कर दिया। बताया जा रहा है कि पालतू बत्तखों का शिकार करने मगरमच्छ बाहर निकला था। हालाकि मगरमच्छ के उपर ग्रामीण टूट पड़े तो वापस वह नदी में चला गया। ग्रामीणों को नदी किनारे नहीं जाने की सलाह दी है लेकिन इलाके में खौफ और दहशत फैला हुआ है।

*शिकार के बाद टीले पर जाता है वापस,अलर्ट जारी* गौरतलब है कि गंगा में पानी कम होने के साथ ही मंगलवार को भी मगरमच्छ दिखा था। वन विभाग ने लोगों को घाट किनारे तैराकी के लिए नहीं जाने का निर्देश दिया है। विभाग का कहना है कि गंगा में पानी घटने से मगरमच्छ अजगैवीनाथ मंदिर के पीछे ही 5 किलोमीटर के दायरे में घूम रहा है। मछलियों का शिकार करने के बाद वह टीले पर चला जाता है। वन विभाग की टीम लगातार निगरानी का दावा भी कर रही है।

4 Views