जनपथ न्यूज डेस्क, पटना
पटना 20 जुलाई 2022

पटना: नगरीय विकास और संभावनाएं विषय को लेकर स्थानीय चाणक्य होटल के सभागार में प्रजा फाउंडेशन के तत्वावधान में आयोजित कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए बिहार के उपमुख्यमंत्री श्री तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि सुव्यवस्थित शहर के टिकाऊ स्वरूप के लिए सरकार के प्रयासों के साथ-साथ जन-सहभागिता भी काफी जरूरी है। उन्होंने कहा कि नगरीय विकास की चुनौतियां बहुत हैं, परंतु किसी भी राज्य के विकास में नगरीय क्षेत्र का बड़ा योगदान होता है।

उन्होंने कहा कि शहरी जन-जीवन की बेहतरी के लिए सरकार ने कई महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं। बिहार सरकार ने कई नगर पंचायतों को नगर परिषद् में उत्क्रमित किया है। कई नए नगर पंचायत बनाए गए हैं। साथ ही, नगर परिषदों का नगर निगम के रूप में उत्क्रमित को किया गया है, जिससे हमारा नगरीय क्षेत्रफल बढ़ा है, परंतु हमें राष्ट्रीय औसत के करीब पहुंचने के लिए अभी और प्रयास करना है। उन्होंने कहा कि शहरी विकास के लिए संचालित योजनाओं के समुचित क्रियान्वयन एवं कारगर अनुश्रवण हेतु निदेशालय का गठन किया गया है। इसके लिए उप निदेशक के पद का सृजित किये गये हैं, जिससे नगरीय विकास की गतिविधियां तेज हो सकें।

उन्होंने कहा कि नगर निकाय में अभियंत्रण सेल को सुदृढ़ किया गया है, इसके लिए नगर विकास प्रमंडल का गठन करके कार्यपालक अभियंताओं की प्रतिनियुक्ति करते हुए उन्हें शक्ति प्रदान की गई है, जो अपने संबंधित क्षेत्रों में थ्री-टायर शहरी निकाय के तकनीकी कार्यों को देखेंगे। उन्होंने कहा कि बिहार सरकार ने महत्वपूर्ण निर्णय लेते हुए जनता के प्रति सीधी जिम्मेवारी तय करने के उद्देश्य से शहरी निकाय के मेयर, नगर मुख्य पार्षद के पद को सीधे निर्वाचन प्रक्रिया से जोड़ा गया है। उन्होंने कहा कि इसके साथ-साथ नगर विकास के लिए अलग से इंजीनियरिंग कैडर के गठन की दिशा में भी हम काम कर रहे हैं।

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि शहरी स्वशासन की सुदृढ़ता के लिए सरकार के प्रयासों के साथ-साथ नागरिकों की जागृति और सचेष्टता भी काफी आवश्यक है। शहर को साफ-सुथरा रखने हेतु हमें छोटी-छोटी बातों पर ध्यान देने की जरूरत है। हमारा शहर साफ रहे, इसके लिए हरएक को सामूहिक जिम्मेदारी निभानी होगी। उन्होंने कहा कि हमारी वार्ड सभा और वार्ड समिति जितनी सशक्त होगी, शहर उतने ही सुदृढ़ दिखेंगे। सरकार ने अपने महत्वाकांक्षी कार्यक्रमों के माध्यम से राज्य के 9 स्थानों पर स्टॉर्म वॉटर ड्रेनेज सिस्टम के काम को शुरू किया है। 39 स्थानों पर मोक्षधाम के निर्माण की स्वीकृति प्रदान की गई है। 30 शहरों में आयोजन प्राधिकार का गठन किया गया है। बिहार में गंगा के किनारे बसे शहरों में उत्तम नगरीय सुविधाओं के लिए महत्वाकांक्षी योजनाओं का क्रियान्वयन सुनिश्चित कराया जा रहा है।

उक्त अवसर पर पूर्व मंत्री श्री नंदकिशोर यादव, पूर्व मंत्री श्री विनोद नारायण झा ने भी अपने महत्वपूर्ण विचार व्यक्त किए। इस मौके पर विधायक श्री राकेश कुमार रौशन, विधायक श्रीमती रश्मि वर्मा, पूर्व विधान पार्षद् श्री हरेंद्र प्रताप, श्री रामानुज, श्री छत्रपति यादव, प्रजा फाऊंडेशन के मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी श्री मिलन मास्के, संस्थान की निदेशक श्रीमती प्रियंका शर्मा, प्रोजेक्ट को-ऑर्डिनेटर श्री अविरल दूबे सहित अन्य गणमान्य समाज सेवी उपस्थित थे।

2 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published.