महागठबंधन में होगी बड़ी टूट: श्रवण

जनपथ न्यूज डेस्क
Reported by: गौतम सुमन गर्जना
Edited by: राकेश कुमार
www.janpathnews.com
13 नवम्बर 2022

भागलपुर/पटना : राष्ट्रीय लोक जनशक्ति पार्टी के प्रवक्ता श्रवण कुमार अग्रवाल ने दावा किया है कि जदयू संसदीय बोर्ड के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा एनडीए के शीर्ष नेताओं के संपर्क में हैं और वे जल्द ही राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) गठबंधन में शामिल होने की घोषणा कर सकते हैं। एनडीए ने उपेंद्र कुशवाहा को उचित सम्मान देकर केंद्र में मंत्री बनाया था और आज बिहार में नेता प्रतिपक्ष की भूमिका में कुशवाहा समाज के बड़े नेता सम्राट चौधरी नेता प्रतिपक्ष का दायित्व संभाल रहे हैं।

कुशवाहा समाज और अपनी उपेक्षा से आहत : श्रवण ने कहा कि उपेंद्र कुशवाहा समाज और अपनी उपेक्षा से काफी आहत हैं और जल्द ही बिहार के महागठबंधन में बड़ी टूट होगी। उपेंद्र कुशवाहा सहित महागठबंधन में शामिल और एक बड़े नेता अपनी पार्टी के साथ एनडीए में विधिवत शामिल होने की घोषणा कर सकते हैं।

पहले भी उपेंद्र को मिल चुका है धोखा : श्री अग्रवाल ने कहा कि उनकी पार्टी ने पहले ही उपेंद्र कुशवाहा को आगाह किया था। नीतीश कुमार उपेंद्र को पहले भी दो बार धोखा दे चुके हैं। उपेंद्र कुशवाहा के साथ नीतीश कुमार जल्द ही धोखा पार्ट-3 को अंजाम देंगे, जो पूरी तरह से सच साबित हुआ। राष्ट्रीय प्रवक्ता ने कहा कि नीतीश कुमार के कारण उपेंद्र कुशवाहा को काफी नुकसान उठाना पड़ा है।

लालच में डाल पार्टी भी की समाप्त : श्री श्रवण ने कहा कि मुख्यमंत्री ने उपेंद्र को लालच में फंसाकर उनकी पार्टी को भी समाप्त कर दिया। नीतीश कुमार लव-कुश का नारा देकर विगत 17 वर्षों से सत्ता में हैं लेकिन, उन्होंने हमेशा कुशवाहा समाज और अति पिछड़े वर्गों की उपेक्षा की है।

अति पिछड़ों के सच्चे हितैषी नरेन्द्र मोदी : श्री अग्रवाल ने कहा कि कुशवाहा समाज और अति पिछड़ों के सच्चे हितैषी सही मायने में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और एनडीए गठबंधन ही है। भाजपा और एनडीए ने उपेंद्र कुशवाहा को उचित सम्मान देकर केंद्र में मंत्री बनाया था और आज बिहार में नेता प्रतिपक्ष की भूमिका में कुशवाहा समाज के बड़े नेता सम्राट चौधरी नेता प्रतिपक्ष का दायित्व संभाल रहे हैं। कुशवाहा समाज और पिछड़े और अति पिछड़ों के हक और अधिकार की लड़ाई को पूरी मजबूती से सदन में रख रहे हैं।

साजिश रच दावेदारी का किया विरोध : राष्ट्रीय प्रवक्ता श्री अग्रवाल ने कहा कि भ्रष्टाचार के आरोप में संलिप्त लालू प्रसाद के पुत्र तेजस्वी यादव को नीतीश कुमार ने उपमुख्यमंत्री बनाया जब उपेंद्र कुशवाहा को उपमुख्यमंत्री बनाने की बात आई तो जदयू के बड़े नेताओं ने साजिश रचकर कुछ कुशवाहा समाज के विधायकों से उपेंद्र कुशवाहा की दावेदारी का विरोध करा दिया। अब नीतीश कुमार के द्वारा तेजस्वी यादव को आगे बढ़ाने और उन्हीं को विरासत सौंपने की बात की जा रही है। सही मायनों में नीतीश कुमार के बाद उनकी विरासत का सच्चा व सही हकदार उपेंद्र कुशवाहा थे।

 222 total views,  3 views today