रास्ते आवाज देते हैं सफर जारी रखोः श्‍वेता प्रियदर्शिनी

जनपथ न्यूज डेस्क
Reported by: गौतम सुमन गर्जना
Edited by: राकेश कुमार
www.janpathnews.com
11 दिसंबर 2022

भागलपुर: राह के पत्थर से बढ़ कर कुछ भी नहीं है मंजिलें, रास्तेे आवाज देते हैं सफर जारी रखो…कुछ इसी अल्फाज के साथ भागलपुर की चर्चित मेयर प्रत्याशी श्‍वेता प्रियदर्शिनी ने अपने दिल की बात कही. मौका था स्थानीय मंदरोजा स्थित प्रधान कार्यालय में मेेयर प्रत्याशी श्वेता प्रियदर्शिनी के समर्थन में आपात बैठक के आयोजन का. आयोजित बैठक को संबोधित करते हुए श्वेता प्रियदर्शनी ने कहा कि भागलपुर एक श्रेष्ठ नैतिकता वाला शहर है. एशिया की पहली चिकित्सक कादंबनी गांगुली हो या देवदास के रचयिता शरतचंद या साहित्यकार बनफूल. बंगाली समुदाय की जात्रा हो या सांस्कृतिक रचनाधर्मिता का भागलपुर की अपनी एक खास पहचान है. इस धरा पर आज भी साहित्यिक-सांस्कृतिक व आध्यात्मिक त्रिवेणी बहती है. उन्होंने कहा कि आज चुनाव में जीत के लिए विशेष मुहिम को अपनाना पड़ता है. भागलपुर में नगर निगम का चुनाव कई तरह की अनैतिक भूलों से भरा पड़ा है. इसलिए अतीत की चुनावी भूल के निर्णय से मौजूदा मानवीय मूल्यों में भारी गिगरावट की संभावना दिखने लगी है. आम लोगों को नेताओं में भ्रष्ट्राचार का पेरोकार और उनकी नजर में जनता चुनावी मौसम में पैसे पर बिकने वाली कठपुतली बन चुकी है. ऐसे हालात में स्वस्थ लोकतंत्र की कल्पना बेईमानी है. ऐसे में हमारे स्वस्थ समाज की राजनैतिक मृत्यू हो जाती है.लेकिन, कई बार विभिन्न किस्म की चर्चा हमें विकल्प चुनने की गुंजाईश देती है.

श्‍वेता प्रियदर्शिनी ने कहा कि चुनाव पूर्वानुमानों से बेखबर परिणाम भी देता है. बस इसी वजह से हम विरोधाभासी ढंग से ज्यादा से ज्यादा आंकड़े जमा करने में जुट जाते है. ऐसा देखा गया है कि चुनाव में कई घटनायें प्रचंड और अनपेक्षित रहती है. उन्होंने कहा कि आगामी 28 तारीख को भागलपुर में मेयर पद के लिए वोटिंग होना है. इस चुनाव में वह आम जनता का प्रतिनिधित्व करने का गौरव प्राप्त की है. उन्हौनें कहा कि आज हमारा ज्ञान अंधाधुन गति से आगे बढ़ रहा है, इसलिए कायदे से शहर के विकास को लेकर हमारी समझ क्रमिक और तेज गति से आगे बढ़नी चाहिए.

जीरो बजट से लड़ा जा रहा यह चुनाव रचेगा इतिहास: बैठक में मौजूद जाने -माने शिक्षाविद और मोटीवेशनल स्पीकर प्रो० देवज्योति मुखर्जी ने कहा कि लोक उम्मीदवारी और जीरो बजट से यह चुनाव लड़ा जा रहा है, यह बहुत ही सुखद बात है. उन्होंने कहा कि यह चुनाव निश्चित तौर पर एक इतिहास रचेगा. शहर में सबसे बेदाग छवि और सबसे पढ़ी-लिखी उम्मीदवार के रूप में मैं श्‍वेता प्रियदर्शिनी को पाता हूं. असल में शहर की आवाम लगातार अच्छा विकल्प तलाश रही थी और यह तलाश अब श्वेता प्रियदर्शिनी के चुनावी मैदान में उतर जाने से पूरी हो गई है. उन्होंने कहा कि यह चुनाव अब तक हुए नगर निगम के पूर्ववर्ती परिणाम से बेहतर होगा और एक नया इतिहास रचेगा.

श्‍वेता प्रियदर्शिनी मेरी बहन हर हाल में बनेगी मेयर: रेशमी शहर भागलपुर के जाने-माने सामाजिक कार्यकर्ता विजय यादव ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि उनका समर्थन मेयर प्रत्याशी के रूप में श्‍वेता प्रियदर्शिनी को है. उन्होंने कहा कि बहुत सोच- समझकर उन्होंने यह फैसला लिया है.भागलपुर से उनका सामाजिक सरोकार रहा है.वे चाहते हैं कि शहर को एक शिक्षित और कर्मठ महापौर मिले.उन्होंने इस बात पर जोर देकर कहा कि जब श्‍वेता प्रियदर्शिनी उनसे मिलने उनके घर पर आयीं तो कुछ देर की बातचीत और शहर के विकास को लेकर उनकी सोच को देखकर, उसी समय उन्होंने वचन दे दिया कि वे उनका समर्थन करेंगे. आज इस खुले मंच से मैं इस बात की घोषणा करता हूं कि श्वेता प्रियदर्शिनी मेरी बहन है,जो हर हाल में भागलपुर की मेयर बनेंगी.चाहे इसके लिए जितनी मेहनत की जाए हम करेंगे.
कोई बता दे कौन है श्‍वेता प्रियदर्शिनी से बेहतर प्रत्याशीः मौके पर मौजूद जनता दल युनाईटेड के प्रदेश महासचिव शिशुपाल भारती ने समारोह की अध्यक्षता करते हुए कहा कि यह चुनाव भागलपुर के लिए अस्मिता का चुनाव है, जिसमें अतिपिछड़ा समाज की एक पढ़ी-लिखी बेटी, जो पेशे से एक तेजतर्रार अधिवक्ता भी हैं और जिसने गरीबों,वंचितों, अल्पसंख्यकों के साथ समग्र समाज के जरूरतमंद लोगों के न्याय के लिए सुप्रीम कोर्ट से लेकर हाईकोर्ट और सिविल कोर्ट में न्याय की लड़ाई लगातार लड़ रही हैं. उन्होंने कहा कि शहर में अधिकांश मेयर प्रत्याशी में कोई न कोई दाग जरूर है, हालांकि कुछ अपवाद हो सकते हैं लेकिन कोई एक व्यक्ति बता दे कि भागलपुर में मेयर पद के लिए श्‍वेता प्रियदर्शिनी से कोई बेहतर प्रत्याशी है.उन्होंने कहा कि कोई किडनी बेच रहा है तो कोई नगर निगम के पेसे से अपने पेट्रोल पंप के कर्मचारी को वेतन बांट रहा है. ऐसे ही लोगों ने मिलकर नगर निगम को लूट-खसोट का अड्डा बना दिया है. ऐसे में कानून की जानकार श्‍वेता प्रियदर्शिनी का मेयर प्रत्याशी के रूप में आने से वह आम जनता की भी पहली पसंद बन चुकी है.

धनबल और बाहुबल से करेंगे मुकाबला: ग्रेट सोशल रिफार्मर ऑफ इंडिया अवार्ड से सम्मानित सामाजिक कार्यकर्ता टिंकू यादव ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि जीत अवश्यंभावामी न हो, इस बात का पूरी तरह से ख्याल रखा जायेगा. चुनाव में श्‍वेता प्रियदर्शिनी का मेयर प्रत्याशी के तौर पर खड़ी जरूर हैं लेकिन इस चुनाव को शहर के हर युवा ओर शिक्षित वर्ग का समर्थन है. यह चुनाव भागलपुर के लिए एक सबक होगा कि आज भी धनबल और बाहुबल का मुकाबला जब एक सुलझी और सभ्य प्रत्याशी से हुआ तो जनता उनके साथ खड़ी हो गई. उन्होंने कहा कि श्‍वेता प्रियदर्शिनी हमारा नेतृत्व करेंगी और हम सब युवा उनके साथ खड़े हैं.

नेताओं ओर सामाजिक कार्यकर्ताओं का लगा जमघट : इस समारोह में कई नेताओं और समाजिक कार्यकर्ताओं का जमघट लगा हुआ था, जिनमें डाॅ०आनंद यादव, डाॅ०अजीत कुमार सोनू, गोविंद बनर्जी, रिंटू सिंह चंद्रवंशी, उत्तम कुमार सिंह, सोनू सम्राट, अतिश यादव, संतोष श्रीवास्तव, अनमोल शेखर, सुमन यादव, जागेश्वर साह, सनत कुमार, अमित कुमार, एडवोकेट आशीष रंजन,मंजीत ठाकुर, दिलीप विश्वकर्मा समेत अनेक लोग मौजूद दिखे।

 162 total views,  3 views today