न्यूज डेस्क/जनपथ न्यूज
Edited by: राकेश कुमार
मार्च 17, 2022
पटना: बिहार में शराब बंदी का कानून लागू है लेकिन इसके बाद भी राज्य में शराब पर रोक नहीं लग पा रही है। राज्य में जहां शराबबंदी कानून के कार्यान्वयन को लेकर विपक्ष सरकार पर लगातार निशाना साध रही है, वही सराकारी कर्मचारी के साथ शिक्षक और छात्र भी इस कानून की धज्जियां उड़ाने में पीछे नहीं है। ऐसा ही एक मामला बिहार की राजधानी पटना के पाटलिपुत्र थाना क्षेत्र के चर्च रोड स्थित आनंद बिहार अपार्टमेंट से सामने आया है जहां फ्लैट नंबर 101 में कुछ लोग होली मिलन समारोह के बहाने शराब की पार्टी कर रहे थे और पुलिस पहुंच गई। पुलिस ने ठेकेदार, शिक्षक और छात्र समेत 10 लोगो को गिरफ्तार किया है। अपार्टमेंट के ई-ब्लाक के फ्लैट नंबर 101 में रीयल इस्टेट का कारोबार करने वाले विवेकानंद सिंह के मकान में होली की पार्टी चल रही थी। थानाध्यक्ष एसके शाही ने बताया कि गिरफ्तार दस में आठ आरोपितों के शराब पीने की पुष्टि हुई है।
पाटलिपुत्र थाने के प्रभारी ने बताया कि बुधवार की शाम पुलिस को सूचना मिली कि पाटलिपुत्र के चर्च रोड स्थित आनंद विहार अपार्टमेंट के ई-ब्लाक के फ्लैट नंबर 101 में कुछ लोग होली मिलन समारोह के बहाने शराब की पार्टी कर रहे हैं। इसी सूचना के आधार पर पाटलिपुत्र थाने ने छापेमारी की और मौके से 10 लोगो को गिरफ्तार किया।
रियल स्टेट कारोबारी के कमरे में विदेशी शराब की सात खाली बोतलें थीं। दो कमरों में दस लोग मिले। इनमें से दो लोग शराब के नशे में नहीं थे, लेकिन पार्टी में मौजूदगी की वजह से उनकी गिरफ्तारी हुई। गिरफ्तार आरोपितों में विवेकानंद के अलावा पार्थ सारथी (मखदुमपुर, जहानाबाद), मधुरेंद्र कुमार (पुनाईचक प्रोफेसर कॉलोनी), शुभम कुमार (बोरिंग रोड, एसके पुरी), ओम प्रकाश सिंह (अकबरनगर, भागलपुर), सुजीत कुमार (राजीवनगर रोड नंबर चार), पंकज कुमार (नेहरूनगर), मनोज कुमार (अकबरनगर, भागलपुर), मुकेश कुमार (नाथनगर, भागलपुर), अभिषेक कुमार (राजीवनगर रोड नंबर 19), मनोज कुमार (अकबरनगर, भागलपुर) शामिल हैं।

1 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published.