पैरेंट्स की बढ़ी परेशानी, बच्चों को स्कूल पहुंचने में होगी दिक्कत*

जनपथ न्यूज डेस्क
Reported by: गौतम सुमन गर्जना, भागलपुर
Edited by: राकेश कुमार
24 अगस्त 2022

भागलपुर : जिले में सोमवार से प्राइवेट स्कूली वैन के वाहन चालक और ऑनर ने परिवहन विभाग के खिलाफ एकजुट होकर मोर्चा खोल दिया है। सोमवार से तीन दिनों के लिए वाहन की परिचालन ठप कर वे हड़ताल पर चले गए हैं। इससे स्कूली बच्चों के पैरेंट्स की परेशानी बढ़ गई है।
वहीं, प्राइवेट स्कूल के प्राइवेट स्कूली वैन के मालिक और मोटर वाहन संघ के उपाध्यक्ष ने बताया कि भागलपुर जिले में परिवहन विभाग की ओर से पिछले दिनों से बिना परमिट व मंजूरी के वाहन परिचालन को लेकर कार्रवाई की जा रही है और जुर्माना लगाया जा रहा है। इससे वाहन मालिकों पर खास असर पड़ने लगा है और इससे दो दिनों से मोटर वाहन संघ की और भागलपुर जिला परिवहन विभाग के खिलाफ प्रदर्शन किया जा रहा है।

सोमवार को सुबह से सभी वाहन के मालिकों ने परिचालन ठप कर हड़ताल पर चले गए हैं और वाहन चालकों ने बताया कि परिवहन विभाग के द्वारा कहा गया है कि सात सीटर गाड़ी में सात ही बच्चों को बैठाएं, नही तो कार्रवाई की जाएगी। वहीं वाहन चालकों ने बताया कि सात सीटर पर कम से कम बारह बच्चों को बैठाने का आदेश दिया जाए।

जिला परिवहन के द्वारा प्राइवेट स्कूली वैन के मालिकों को कॉमर्शियल कराने का निर्देश दिया गया है लेकिन वाहन मालिकों का साफ कहना है कि अगर हमलोग कॉमर्शियल करवाते हैं तो इसका असर सीधा बच्चों के पैरेंट्स पर पड़ेगा जो पैरेंट्स उसके अनुसार फिर किराया नही देंगे, जिसको लेकर कहा कि कॉमर्शियल हमलोग नहीं करा सकेंग।

*ये है वाहन मालिकों के प्रमुख मांग*
वाहनों के कागजात सही करने के लिए कम से कम पांच माह का समय दिया जाए, छोटे वाहनों से व्यवसायिक शुल्क नहीं लिया जाए, सभी वाहनों के दंड शुल्क को माफ किये जाएं, स्थानीय नगरीय निबन्धन कर उन्हें परमिट दिये जाएं और समस्याओं के समाधान के लिए विशेष कैंप लगाया जाए। वहीं स्कूली बच्चों के पैरेंट्स ने बताया कि प्राइवेट स्कूली वैन के चालकों के हड़ताल से हमलोगों की परेशानी बढ़ गई है।

इस बारे में जीरोमाइल के कामख्या कॉलोनी के निवासी रजनीश कुमार ने बताया कि मैं सरकारी नौकरी करती हूं, इससे हमलोगों को बच्चों को समय पर स्कूल पहुंचाने और लाने में काफी समस्याएं होंगी। वाहन चालकों का पहला दिन हड़ताल है तो किसी तरह सुबह में बच्चे को स्कूल पहुंचा दिए। मैं करीब दस किलोमीटर दूर से बच्चे को स्कूल छोड़ने आता हूं और इससे काफी समस्याएं हमलोगों को होगी।
गौरतलब है कि पिछले दिनों तिलकामांझी थाना क्षेत्र के जेल रोड में स्कूली बच्चों से भरा ऑटो में एक ट्रक ने जबरदस्त ठोकर मार दिया था, जिससे आधा दर्जन बच्चे जख्मी हुए थे। इसके बाद से भागलपुर में परिवहन विभाग ने अनफिट वाहनो पर कार्रवाई करना शुरु कर दिया है, जिससे वाहन चालकों की परेशानी बढ़ गई है और आज सोमवार से करीब 500 स्कूली वैन का परिचालन ठप कर वे स्ट्राइक पर चले गए है।

2 Views