जनपथ न्यूज डेस्क, पटना
Edited by: राकेश कुमार
पटना 01 जुलाई 2022

पटना: स्थानीय अंटा घाट स्थित वाणिज्य-कर विभाग के कार्यालय प्रांगण से बिहार के उपमुख्यमंत्री श्री तारकिशोर प्रसाद ने 21 वाहनों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस मौके पर उन्होंने बताया कि वाणिज्य-कर विभाग कर-संग्रहण के मामले में बेहतर काम कर रहा है। वाणिज्य कर विभाग में करवंचना की रोकथाम हेतु केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो बनाया गया है। इसके अतिरिक्त प्रमंडल स्तर पर नौ प्रमंडलीय अन्वेषण ब्यूरो कार्यरत हैं। इनके द्वारा डाटा एनालिटिक्स एवं ह्यूमन इंटेलिजेंस की मदद से फर्जी फर्मो पर पैनी नजर भी रखी जा रही है।

उन्होंने कहा कि पिछले वित्तीय वर्ष 2021-22 में निरीक्षण के क्रम में 123 अस्तित्वहीन एवं बोगस फर्म का पता लगाकर इनका निबंधन रद्द करते हुए 400 करोड़ के टैक्स लीकेज को बंद किया गया। उन्होंने कहा कि इसी अवधि में व्यवसायिक प्रतिष्ठानों के निरीक्षण द्वारा लगभग 22 करोड़ रुपए की राशि जमा करायी गयी तथा वाहन जांच के क्रम में 13 करोड़ की पेनाल्टी अधिरोपित करते हुए इसकी वसूली भी की गई। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि चालू वित्तीय वर्ष के मात्र तीन महीनों में व्यवसायिक प्रतिष्ठानों के निरीक्षण द्वारा लगभग 11 करोड़ की राशि जमा हुई है, जबकि वाहन जांच के क्रम में दो करोड़ की पेनाल्टी अधिरोपित करते हुए वसूली भी की गई है।उन्होंने कहा कि राज्य के कर संग्रहण में वाणिज्य-कर विभाग की 80 प्रतिशत से अधिक योगदान है। राज्य के विकास में विभाग महती भूमिका का निर्वहन कर रहा है। उन्होंने कहा कि विभाग के प्रवर्तन कार्य को सुदृढ़, गोपनीय और प्रभावी बनाने के उद्देश्य से विभाग द्वारा 21 स्कॉर्पियो वाहनों का क्रय करके जी.एस.टी. दिवस के अवसर पर आज राज्य के विभिन्न कार्यालयों को सुलभ कराया गया है। नए वाहनों के आ जाने से विभाग में प्रवर्तन कार्यों की गोपनीयता और गतिशीलता में वृद्धि होगी। मौके पर उपमुख्यमंत्री को विभागीय सचिव द्वारा प्रतीक चिन्ह् एवं पुष्पगुच्छ देकर सम्मानित किया गया।

इस अवसर पर वाणिज्य-कर विभाग की राज्य-कर आयुक्त -सह- सचिव डॉ० प्रतिमा, विभाग के वरीय पदाधिकारी श्री अरुण मिश्रा, विभागीय मुख्यालय एवं अंटा घाट स्थित वाणिज्य-कर कार्यालय के पदाधिकारी एवं कर्मचारीगण उपस्थित थे।

2 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published.