जनपथ न्यूज डेस्क
Reported by: गौतम सुमन गर्जना
Edited by: राकेश कुमार
www.janpathnews.com
30 नवम्बर 2022

भागलपुर : बिहार-झारखंड और दिल्ली के लोग अंजन दास के मर्डर और उसके बाद निकल रही नई-नई कहानियों से चौंक उठे हैं। सोशल मीडिया से लेकर धरातल तक अब बांका के अंजन दास की निर्मम हत्या के चर्चे हो रहे हैं। झारखंड की पूनम और उसके बेटे दीपक को गिरफ्तार कर लिया गया है। श्रद्धा वालकर की तरह अंजन दास को मौत के घाट उतारा गया। पूरे हत्याकांड को मई में अंजाम दिया गया। अंजन के शरीर के 28 टुकड़े कर उसे फ्रिज में रखा गया और फिर एक-एक कर उसके शरीर के हिस्सों को ठिकाने लगाया जाने लगा। हत्याकांड के पीछे के कारण चौंकाने वाला है तो वहीं पत्नी पूनम की जिंदगी की कहानी भी चर्चा में है।

अंजन दास पूनम का तीसरा पति था। झारखंड की रहने वाली पूनम की पहली शादी 13 वर्ष की उम्र में बिहार में हुई थी। पहला पति आरा जिला निवासी सुखदेव तिवारी था, जो 14 साल की उम्र में एक बच्ची की मां बनी पूनम को काम की तलाश का हवाला देते हुए दिल्ली चला गया और कभी लौटकर नहीं आया। इसके बाद पूनम अपने पति की तलाश में वर्ष 1997 में बेटी के साथ दिल्ली आई, लेकिन लाख कोशिशों के बाद भी सुखदेव उसे नहीं मिला।

कर ली दूसरी शादी : सुखदेव नहीं मिला, तो इसी दौरान पूनम की मुलाकात त्रिलोकपुरी निवासी कल्लू से हुई। वो उसे अपने साथ लेकर चला गया। दोनों एक साथ रहने लगे, कल्लू से प्रेम में पूनम उसे अपना पति मानने लगी। कल्लू और पूनम को एक बेटा दीपक और दो बेटियां हुईं। मिली जानकारी के अनुसार 2018 में पूनम की एक बेटी की छत से गिरने से मौत हुई थी। वहीं, कल्लू शराब का लती था, कोई काम धंधा नहीं करता था।

ऐसे हुआ अंजन से हुआ प्यार :
दिल्ली के जिस मकान में पूनम रहती थी, उसी मकान में बांका का अंजन दास रहता था। अंजन लिफ्ट मैकेनिक था, मेट्रो सिटी में उसकी अच्छी कमाई हो रही थी। दूसरे पति की हरकतों से तंग पूनम की अंजन से नजदिकियां बढ़ने लगी। इसी दौरान 2016 में शराब के लती कल्लू के लीवर फेल हो गए, जिससे उसकी मौत हो गई। कल्लू की मौत के बाद पूनम अंजन के साथ रहने लगी।

अंजन ने नहीं बताया था कि वह आठ बच्चों का बाप है : बांका में अपने परिवार को छोड़कर दिल्ली कमाने गए अंजन दास ने पूनम से अपने विवाह और आठ बच्चे होने की बात छिपा ली थी। पूनम से शादी रचाने के बाद अंजन ने काम धंधा छोड़ दिया। वो पूनम और उसके बेटे दीपक से पैसे लेने लगा। यहां तक की पूनम के गहने चुराकर बिहार भेजने शुरू कर दिए। बस इसी बात पर दोनों का झगड़ा होने लगा और रिश्ते खराब होते चले गए।

सौतेले बेटे की हुई शादी : 2018 में अंजन दास के सौतेले बेटे और हत्या के आरोपी दीपक की शादी हो गई। वह अपनी पत्नी के साथ पास के कमरे में ही रहता था। पूनम और दीपक ने पुलिस को दिए बयान में बताया कि अंजन की गलत नीयत दीपक की पत्नी पर थी। इसलिए दोनों ने मिलकर उसे मारने की योजना बनाई और फिर इस तरह हत्या को अंजाम दिया।

आफताब की तरह प्रयोग किया केमिकल : आरोपी पूनम और दीपक ने अंजन की हत्या के बाद आफताब की तरह ही पूरे घर को केमिकल (फिनाइल) से धोया, फ्रिज से शव के टुकड़ों को ठिकाने लगाने के बाद उसे कई बार साफ किया गया ताकि किसी प्रकार का कोई सबूत न मिल सके। शव के 28 टुकड़े करने के बाद घर को पेंट करा दिया गया। पूरे मर्डर केस की चर्चा इंटरनेट मीडिया पर तेजी के साथ की जा रही है। इस दौरान कई कहानियां निकलकर सामने आ रही हैं।

 357 total views,  3 views today