जितेन्द्र कुमार सिन्हा, पटना

(राजस्थान), 28 अगस्त ::

आजादी के अमृत महोत्सव अभियान कार्यक्रम की कड़ी में जीकेसी (ग्लोबल कायस्थ कांफ्रेंस) द्वारा व्याख्यानमाला कार्यक्रम का आयोजन जोधपुर (राजस्थान) के सर प्रताप विधि महाविद्यालय (महात्मा गाँधी अस्पताल मार्ग, राजस्थान) में 28 अगस्त (रविवार) को किया गया। उक्त जानकारी राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष (मीडिया) जितेन्द्र कुमार सिन्हा ने दी।

उन्होंने बताया कि व्याख्यानमाला को संबोधित करते हुए ग्लोबल अध्यक्ष राजीव रंजन प्रसाद ने कहा कि कायस्थ समाज सभी क्षेत्रो में यथा बौद्धिक, सांस्कृतिक, आध्यात्मिक, राजनैतिक और विकास में अपनी अहम भूमिका निभाया है, इसलिए समय-समय पर कायस्थ शिरोमणियों पर व्याख्यानमाला जैसे कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जीकेसी का आवाहन है कि यह शिलशिला रुकना नहीं चाहिए। हम सबको और संबल के साथ जीकेसी के विचारो को घर-घर तक पहुंचाने की जरुरत है।

राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष (मीडिया) ने बताया कि जीकेसी का उद्देश्य व्याख्यानमाला के माध्यम से स्वतंत्रता सेनानियों को श्रद्धासुमन अर्पित करके उनको याद करना है। जीकेसी जोधपुर (राजस्थान) की टीम ने स्वतंत्रता सेनानी स्व० माथुर दास माथुर और स्वतंत्रता सेनानी स्व० गोविन्द लाल माथुर के व्यक्तित्व पर व्याख्यानमाला का आयोजन कर उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किया।

उन्होंने बताया कि उक्त अवसर पर जोधपुर की पूरी टीम, गिरीश माथुर, राजेश श्रीवास्तव, राकेश श्रीवास्तव, सुश्री सपना वर्मा, आलोक सक्सेना, रचना सक्सेना, अर्जुन, विजेता, परबेन्द्र, राजकुमार सक्सेना, विनीता सक्सेना एवं आराध्य पुत्र विजेता उपस्थित थे। संगठन के उद्देश्यों के विषय पर मुख्य न्यासी रागिनी रंजन ने विस्तार से चर्चा को। अपने अपने विचार रखने वालों में ग्लोबल महासचिव अनुराग सक्सेना, CFO निशिका रंजन एवं राष्ट्रीय संगठन सचिव शुभ्रांशु श्रीवास्तव ने प्रमुख थे।
——

3 Views